श्रीराधा दामोदर मंदिर वृंदावन

प्राचीन श्रीराधा दामोदर मंदिर वृंदावन में स्थित है। इसकी चार परिक्रमाएं करने से गिरिराज गोवर्धन की परिक्रमा का फ ल मिलता है। साढ़े चार सौ वर्ष पुराने इस मंदिर की परिक्रमा करने से उसमें विराजमान गिरिराज शिला की स्वतः परिक्रमा हो जाती है।…

जेन संवाद

जेन कहानियां दो जेन आश्रम आसपास थे। दोनों में एक-एक बालक रहता था। आश्रम के लिए सब्जी खरीदने बाजार जाते समय एक बालक दूसरे से मिला। कहां जा रहे हो ? पहले ने पूछा। जहां मुझे मेरे पांव ले कर जाएं। दूसरे ने जवाब दिया। इस जवाब से भ्रमित पहले…

करुणा से अभिभूत

सद्गुरु जग्गी वासुदेव एक आदमी जो हमेशा गरीबी और असहनीय भूख के कारण त्रस्त रहता था, छोटी-मोटी चोरियां करता रहता था। एक बार उसे जेल की सजा हो गई। उसने कई बार वहां से भागने की कोशिश की पर हर बार पकड़ा गया और हर बार उसकी जेल की सजा बढ़…

फूड प्वाइजिनिंग से कैसे बचें

बरसात के मौसम में प्रतिरक्षा प्रणाली के कमजोर होने और अस्वास्थ्यकर आहार से पाचन संबंधी विकार जैसे कब्ज, पेचिश, अपच, उल्टी, फूड प्वाइजनिंग आदि समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा गैस्ट्रो आंत्र संक्रमण जैसे टाइफाइड, हैजा, मलेरिया, पीलिया और…

मेमोरी शार्प करती हैं अच्छी किताबें

हेल्दी रहने के लिए हम कई तरह के नुस्खे अपनाते हैं। खाने-पीने, एक्सरसाइज से लेकर अपने लाइफस्टाइल तक में कई सारे बदलाव करते हैं। सही ब्लड सर्कुलेशन, सही ब्लड प्रेशर, पेट से संबंधित किसी भी प्रकार का कोई रोग न होना हेल्दी होने की कैटेगरी में…

सद्गुरु की कृपा

बाबा हरदेव अतः भगवान में मिटने के लिए भक्ति से अधिक सुगम और ज्यादा उपाय नहीं है। भक्ति सभी साधनों से श्रेष्ठ है,क्योंकि इस सूरत में पहले चरण से ही मिटने की यात्रा शुरू हो जाती है। कबीर जी का भी फरमान हैः भाव भक्ति विश्चास बिन कटे न संसे…

सच्चाई का मार्ग

स्वामी विवेकानंद गतांक से आगे... स्वामी निरंजनानंद और स्वामी रामकृष्ण इस सबके रक्षक थे। वे देने को कतई राजी न थे। स्थिति बिगड़ते देखकर स्वामी विवेकानंद ने सभी भक्तजनों से कहा, महापुरुषों के देहावशेष के बारे में शिष्यों के विवाद धर्म जगत…

ताजमहल या तेजो महालय, जानिए रहस्य

कब्रगाह को महल क्यों कहा गया? मकबरे को महल क्यों कहा गया? क्या किसी ने इस पर कभी सोचा, क्योंकि पहले से ही निर्मित एक महल को कब्रगाह में बदल दिया गया। कब्रगाह में बदलते वक्त उसका नाम नहीं बदला गया। यहीं पर शाहजहां से गलती हो गई। उस काल के…

तोरई के गुण

सेहतमंद रहने के लिए हरी सब्जियां खाने की सलाह सभी डाक्टर देते हैं। ताजा हरी सब्जियों की उचित मात्रा आहार में शामिल करने से शरीर में ब्लड का निर्माण होता है और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। शरीर को रोगों से लड़ने के लिए हिमोग्लोबिन…

दिल को दुरुस्त रखें ये योग

आजकल की व्यस्त लाइफस्टाइल में लोगों के पास अपने लिए तो बिलकुल भी समय नहीं है। आज हर किसी पर कार्य का इतना ज्यदा बोझ है कि कब बीमारियां घेर लेती हैं, इसका पता ही नहीं चलता। योग के कई फायदों के बारे में हम सब जानते हैं, लेकिन कुछ योग ऐसे भी…

विवाद से परे है ईश्वर का अस्तित्व

अमृतत्व का प्राप्त होना इसी परिष्कृत दृष्टिकोण को अपनाने के साथ जुड़ा हुआ है। हम हैं और इंद्रियों को प्रेरणा देने वाले हैं - इंद्रियों के कारण हम चैतन्य नहीं, वरन हमारे कारण इंद्रियों में चेतना है, यह जान लेने पर आत्मा का अस्तित्व प्रत्यक्ष…

ड्ढकुंडलिनी साधनाएं : कुंडलिनी क्या है

यह कुंडलिनी क्या है और उसे किस प्रकार जागृत किया जाता है, इसको जागृत करने से क्या लाभ हैं, ये सब बातें जानने से पहले हमें यह जानना चाहिए कि कुंडलिनी जागृत करने में जिन सात चक्रों का जिक्र किया जाता है, वे सातों चक्र क्या हैं और शरीर में…

किसी अजूबे से कम नहीं हैं महाभारत के पात्र

आज भी लाखों हिंदुओं के लिए कर्ण एक ऐसा योद्धा है जो जीवनभर दुखद जीवन जीता रहा। उसे एक महान योद्धा माना जाता है जो साहसिक आत्मबल युक्त एक ऐसा महानायक था जो अपने जीवन की प्रतिकूल स्थितियों से जूझता रहा। विशेष रूप से कर्ण अपनी दानप्रियता के…

दादी मां के नुस्खे

* सिरका बालों को सिल्की और स्मूथ बनाता है। शैम्पू और कंडीशनर लगाने के बाद बालों में एप्पल साइडर विनेगर लगाएं और इन्हें धो लें। बाल मुलायम होंगे और इनमें जबरदस्त चमक आएगी। * ड्राई बालों के बेहतर परिणामों के लिए आप बादाम का तेल, आलिव ऑयल और…

शांत कर्मों के लिए सौम्य मंत्रों का प्रयोग

मंत्र दो प्रकार के होते हैं- पहला, आग्नेय मंत्र एवं दूसरा, सौम्य मंत्र। जिन मंत्रों में पृथ्वी, अग्नि और आकाश तत्त्व के वर्ण अधिक होते हैं, वे आग्नेय मंत्र होते हैं तथा जो मंत्र जल एवं वायु तत्त्व से युक्त होते हैं, वे सौम्य मंत्र कहलाते…