दिल्ली नगर निगम चुनाव: केजरीवाल के झाड़ू ने हिला दी 15 साल से काबिज भाजपा की सत्ता

By: Dec 7th, 2022 2:04 pm

नई दिल्ली। दिल्ली नगर निगम (MCD) की बुधवार को हुई मतगणना में आम आदमी पार्टी (AAP) को 134 सीटों पर जीत मिली है, जबकि सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 104 सीटों पर विजय हासिल की है और कांग्रेस को 9 सीटें मिली हैं और अन्य के खाते में 3 सीटें आई हैं। राज्य चुनाव आयोग के अनुसार आप नेता एवं एमसीडी चुनाव में एकमात्र ट्रांसजेंडर उम्मीदवार बॉबी ने बुधवार को सुल्तानपुरी-ए वार्ड से जीत हासिल की। उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार वरुणा ढाका को 6,714 मतों के अंतर से हराया। उन्होंने पार्टी का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुने जाने के बाद कहा था कि वह अपने निर्वाचन क्षेत्र को सुंदर बनाना चाहती हैं और अपने पड़ोसियों के जीवन में सुधार करना चाहती हैं। इस बीच दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने आशा व्यक्त की है कि पार्टी चौथी बार सत्ता में आयेगी।

श्री गुप्ता ने ट्वीट किया कि जिस तरह से दिल्ली के मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार किया और उसके साथ विश्वासघात किया, उसका बदला दिल्ली की जनता लेगी। मुझे दिल्ली की जनता पर भरोसा है। हमने मुद्दे उठाए, ‘आप’ के भ्रष्टाचार को उजागर किया और उनकी विफलताओं को उजागर किया। हम चौथी बार एमसीडी में सत्ता में आने जा रहे हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने ट्वीट किया कि अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में 15 वर्ष लंबे कांग्रेस शासन और अब एमसीडी में 15 वर्ष लंबे (भाजपा) शासन को उखाड़ फेंका। इससे पता चलता है कि दिल्ली के लोगों को नफरत की राजनीति पसंद नहीं है, वे स्कूलों, अस्पतालों, बिजली, सफाई और बुनियादी ढांचे के लिए वोट करते हैं।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जीत के बाद ट्वीट करके दिल्ली की जनता के प्रति आभार व्यक्त किया और दिल्ली को बेहतर बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आशीर्वाद मांगा। केजरीवाल ने कहा, “इस शानदार जीत के लिए दिल्ली की जनता का शुक्रिया और सबको बहुत-बहुत बधाई। अब हम सबको मिलकर दिल्ली को साफ़-स्वच्छ और सुंदर बनाना है।” जीत के बाद ‘आप’ मुख्यालय पहुंचे अरविंद केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली की जनता ने 15 वर्ष की भ्रष्ट भाजपा को निगम से हटाकर ‘आप’ सरकार को निगम में बहुमत दिया है इसके लिए जनता का धन्यवाद। ये हमारे लिए बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। दिल्ली के लोगों ने मुझे दिल्ली की सफाई, भ्रष्टाचार को दूर करने, पार्क को ठीक करने के साथ कई सारी जिम्मेदारियां दी हैं। मैं दिन-रात मेहनत करके कोशिश करूंगा कि आपके इस विश्वास को कायम रखूं। मैं दिल्ली के लोगों के बहुत बधाई देना चाहता हूं। इतनी बड़ी और शानदार जीत के लिए, बदलाव के लिए दिल्ली के लोग बधाई के पात्र हैं।”

गौरतलब है इस वर्ष दिल्ली के तीन नगर निगमों का विलय कर दिल्ली नगर निगम फिर गठित गया है। इससे पहले तीनों नगर निगमों के अलग-अलग मेयर हुआ करते थे लेकिन अब एक ही मेयर चयनित किया जायेगा। इसी वर्ष वार्डों का परिसीमन किया गया था। इससे पहले कुल 272 वार्ड थे ,परिसीमन के बाद घटकर इनकी संख्या 250 हो गयी है। इस वर्ष की शुरूआत में एमसीडी के फिर से एक होने के बाद यह पहला चुनाव हुआ था। चार दिसंबर को हुए चुनावों में केवल 50.48 फीसदी मतदान हुआ। कुल 1.45 करोड़ मतदाताओं में से केवल 73 लाख लोग मतदान में शामिल हुए। दिल्ली राज्य चुनाव आयोग द्वारा साझा किए गए डेटा के अनुसार दक्षिणी दिल्ली के संपन्न इलाकों में नगरपालिका चुनावों में सबसे कम मतदान हुआ। ग्रामीण पॉकेट और पूर्वोत्तर दिल्ली के कुछ हिस्सों में, जहां 2020 में दंगे हुए थे वहां सबसे अधिक मतदान प्रतिशत देखा गया।