साधुपुल नाले में जगह-जगह चैकडैम जरूरी

कंडाघाट—कंडाघाट के साधुपुल में गुरुवार को स्थानीय प्रशासन ने उस नाले का दौरा किया, जिसमें भारी पानी व मलबे आने के कारण साधुपुल में बने होटलों व घरों का 30 लाख रुपए तक का नुकसान हुआ था। मौके पर आए विभाग के अधिकारियों ने पाया कि यदि इस नाले…

कुम्मारहट्टी हादसा..जमीन खंगालने का काम शुरू

सोलन—कुम्मारहट्टी में हुए दर्दनाक हादसे के चार दिन बीत जाने के बाद भी विशेष जांच टीम ने मौके पर पहुंच सुराग ढूंढ रही है। गुरुवार को भी एसआईटी द्वारा करीब एक घंटे तक मौके पर जाकर कार्रवाई की है। वहीं एसआईटी भूमि से जुड़े कई कागजात खंगालने…

पार्क में अब लोग उठाएंगे कैमल राइडिंग का लुत्फ

नालागढ़—ड़े शहरों की तर्ज पर नालागढ़ में स्थापित किए गए पार्क स्टेडियम में लोग अब कैमल राइडिंग का लुत्फ उठाएंगे। नालागढ़ हेरिटेज सोसायटी ने यहां ऊंट की सवारी की सुविधा लोगों के लिए मुहैया करवा दी है। कैमल राइडिंग से जहां लोग सैर का लुत्फ…

11 घंटों के बाद खुला नालागढ़-रामशहर मार्ग

नालागढ़—प्रदेश की राजधानी को जोड़ने वाला नालागढ़-शिमला वाया रामशहर मार्ग 11 घंटे बाद यातायात के लिए खोला गया। रात्रि 11 बजे से यह मार्ग पूरी तरह से बंद रहा और गुरुवार सुबह 10 बजे मशीनरी लगाकर यह मार्ग यातायात के लिए बहाल किया गया। इस मार्ग…

आधे महीने बाद भी नहीं मिली पगार

सुबाथू—छावनी परिषद सुबाथू में गुरुवार को आउटसोर्स पर लगे सफाई कर्मचारियों को आधा महीना गुजर जाने के बाद भी सैलरी न मिलना का मामला सामने आया है। इस बारे में सफाई कर्मचारियों ने छावनी सीईओ को भी अपनी समस्या से अवगत करवाने के लिए एक पत्र छावनी…

नालागढ़-रामशहर मार्ग पर गिरा ल्हासा, आवाजाही ठप

नालागढ़—नालागढ़ उपमंडल में बुधवार को हुई बारिश से क्षेत्र का जनजीवन एक बार फिर अस्त व्यस्त होकर रह गया। जहां कई सड़कों पर ल्हासे व चट्टाने गिर गई है, वहीं कई मार्ग अवरूद्ध भी रहे। नालागढ़-रामशहर मार्ग पर सिल्णू पुल के समीप ल्हासा गिरने से…

भूलते नहीं भूल रहा वो भयानक मंजर

धर्मपुर—कुमारहट्टी के रुंदनघोरों गांव में हुए दर्दनाक हादसे का मंजर अभी भी लोगों की आंखों से ओझल नहीं हो पा रहा है। हादसे को हुए तीन दिन का समय बीत गया है, लेकिन लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। कुमारहट्टी-नाहन नेशनल हाई-वे हर वाहन की…

मिट्टी बताएगी बिल्डिंग का सच

सोलन—कुम्मारहट्टी हादसे के बाद गठित हुई विशेष जांच टीम ने जांच और तेज कर दी है। मंगलवार को मिट्टी के सैंपल लेने के बाद बुधवार को टीम ने चिट्टी लिखकर राजस्व विभाग से भूमि संबंधी पूरा ब्यौरा मांगा है। एसआईटी ने चिट्टी में साफ किया है कि इस…

अब तक 23 करोड़ निवेश

बीबीएन—हिमाचल प्रदेश सरकार ने अपने वर्तमान कार्यकाल में प्रदेश में 80 हजार करोड़ के औद्योगिक निवेश का लक्ष्य निर्धारित किया है, तथा गत डेढ़ वर्षों में प्रदेश में तेइस हजार करोड़ रुपए के औद्योगिक निवेश को मंजूरी प्रदान की गई है। उक्त …

पांवटा वन मंडल रोपेगा 42650 पौधे

पांवटा साहिब—पांवटा साहिब में वन विभाग द्वारा इस बार आगामी 20 से 24 जुलाई तक वन महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान विभिन्न बीटों में हजारों पौधों का रोपण किया जाएगा। वन विभाग ने इस बाबत पूरी तैयारियां कर ली हैं। डीएफओ पांवटा कुनाल…

राजीव कुमार ने संभाला नौणी विवि में रजिस्ट्रार का कार्यभार

नौणी—डा. यशवंत सिंह परमार नौणी विश्वविद्यालय मंे एचएएस राजीव कुमार ने बतौर रजिस्ट्ररार कार्यभार संभाल लिया है। उन्होंने विश्वविद्यालय के विभिन्न कर्मचारी संगठनों से मुलाकात की। राजीव कुमार मूलरूप से जिला कांगड़ा के पालमपुर से…

गुग्गा माड़ी मेला पांच सितंबर से

सुबाथू—हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी सुबाथू का ऐतिहासिक गुग्गा माड़ी मेला पांच सितंबर से आठ सितंबर तक मेला ग्राउंड में धूमधाम से मनाया जाएगा। इसके लिए मेला कमेटी ने मेला की तैयारियां भी शुरू कर दी है। श्री गुग्गा माड़ी मेला कमेटी की बैठक…

राजीव कुमार ने संभाला नौणी विवि में रजिस्ट्रार का कार्यभार

नौणी—डा. यशवंत सिंह परमार नौणी विश्वविद्यालय मंे एचएएस राजीव कुमार ने बतौर रजिस्ट्ररार कार्यभार संभाल लिया है। उन्होंने विश्वविद्यालय के विभिन्न कर्मचारी संगठनों से मुलाकात की। राजीव कुमार मूलरूप से जिला कांगड़ा के पालमपुर से…

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता-सहायिकाओं के इंटरव्यू 20 अगस्त को

सोलन—बाल विकास परियोजना सोलन में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता तथा सहायिका के रिक्त पद को भरने के लिए साक्षात्कार आयोजित किए जा रहे हैं। यह साक्षात्कार 20 अगस्त को सुबह 11 बजे बाल विकास परियोजना अधिकारी कार्यालय के सभागार में आयोजित किए जाएंगे। यह…

अश्वनी पेयजल योजना से लिफ्ट नहीं होगा पानी

सोलन—सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग मंडल सोलन द्वारा अगले सात दिनों तक अश्वनी पेयजल योजना से पानी की लिफ्टिंग नहीं की जाएगी। इसके पीछे कारण अश्वनी पेयजल योजना में भारी मात्रा में गाद आना है। विभाग ने यह कदम इसलिए उठाया है ताकि लोगों को गंदा…