Divya Himachal Logo Feb 24th, 2017

हरियाणा


डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा दे रही सरकार

चंडीगढ़— हरियाणा में डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने के लिए तथा डिजिटल इंडिया के उद्देश्य को पूरा करने हेतु जानी-मानी ई-वॉलेट पेटीएम, वन-97 कम्युनिकेशन लिमिटेड और हरियाणा राज्य औद्योगिक अवसंरचना विकास निगम (एचएसआईआईडीसी) के बीच एक समझौता हुआ है। इस समझौते पर एचएसआईआईडीसी की ओर से एचएसआईआईडीसी के प्रबंध निदेशक सुधीर राजपाल और पेटीएम की ओर से सीएफओ मधुर देओरा ने हस्ताक्षर किए हैं। इस अवसर पर एचएसआईआईडीसी के प्रबंध निदेशक सुधीर राजपाल ने बताया कि राज्य में डिजिटल ट्रांजेक्शन को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार का यह एक ओर प्रयास है, विशेषकर कर्मचारियों की बीच डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देना है। समझौते के अंतर्गत पेटीएम विभिन्न गतिविधियां करेगी, जिनमें पेटीएम पर एमएसएमई को उनके पिछले ट्रांजेक्शन के आधार पर कोलेट्रलफ्री ऋण की सुविधा पेटीएम देगी। एचएसआईआईडीसी के साथ मिलकर हरियाणा में एक उत्कृष्टता केंद्र भी स्थापित किया जाएगा, जिसमें पेटीएम प्रशिक्षण और कौशल विकास के लिए मैनपावर मुहैया करवाएगी। इसके अलावा हरियाणा में औद्योगिक रूप से पिछड़े क्षेत्रों में 200 लोगों को रोजगार मुहैया करवाया जाएगा। इन गतिविधियों के तहत राज्य में 1000 उद्यमियों को प्रोत्साहित किया जाएगा, जो पेटीएम की सेवाएं लेंगे। समझौते के अंतर्गत की जाने वाली गतिविधियों में हरियाणा के गांवों में बैंकिंग सेवाएं मुहैया करवाकर वित्तीय समावेश को बढ़ावा दिया जाएगा। यह कंपनी राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों, किसानों और छोटे व्यापारियों के वित्तीय उत्पादों में भी सहायता मुहैया करवाएगी। इसके अलावा विभिन्न विभागों के साथ मिलकर नागरिकों को ऑनलाइन भुगतान सेवाएं जैसे कि बिजली के बिल और गैस के बिल इत्यादि की सेवाएं मुहैया करवाई जाएंगी। हरियाणा के साथ भागीदारी करके डिजिटल इंडिया के उद्देश्य को पूरा किया जाएगा। इसके अलावा विभिन्न योजनाओं के डिजिटलीकरण को करने के लिए अपनी तकनीकी और वित्तीय विशेषज्ञता का भी सहयोग सरकार को देगी। पेटीएम ने राज्य में पायलट शुरुआत के तहत स्थानीय लोगों को सहयोगी बनाने और उद्यमियों के प्रशिक्षण हेतु एक वरिष्ठ कार्यकारी पदाधिकारी के अंतर्गत एक टीम के गठन के लिए एक जिले के चयन हेतु आवश्यक अध्ययन की शुरुआत की है। इसके अतिरिक्त आगामी तीन से छह माह में राज्य में एमएमएमई व्यापारियों के लिए कॉलेस्ट्रफ्री ऋण मुहैया करवाने के लिए सुविधा भी दी जाएगी, वहीं एचएसआईआईडीसी पायलट शुरुआत के तहत पेटीएम प्लेटफॉर्म के माध्यम से लगभग 75,000 वार्षिकी वितरण को प्रस्तावित किया।

February 24th, 2017

 
 
Page 2 of 212

पोल

क्या हिमाचल में बस अड्डों के नाम बदले जाने चाहिएं?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates