श्राद्ध का खाना खाने से 33 बीमार

बिलासपुर के बंदला में फूड प्वाइजनिंग का शिकार हुए लोग

 बिलासपुर —शहर से सटे बंदला के कोग गांव में वार्षिक श्राद्ध (बारखी) का खाना खाकर 33 लोगों को फूड प्वाइजनिंग हो गई। तबीयत ज़्यादा बिगड़ने पर इनमें से सात लोग मार्कंडेय अस्पताल और 15 लोग बिलासपुर अस्पताल में भर्ती किए गए हैं। इसके अलावा 11 लोगों का स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने उनके घरों पर उपचार किया है। फिलहाल सभी लोगों का स्वास्थ्य अब स्थिर है। स्वास्थ्य विभाग बिलासपुर के सीएमओ डा. प्रकाश चंद दरोच ने इसकी पुष्टि की है । उन्होंने बताया जैसे ही फूड प्वाइजनिंग का शिकार ये लोग अस्पताल पहुंचना शुरू हुए, तो सभी की जांच में एक जैसी स्थिति पाई गई। इसके बाद तुरंत विभाग ने दो टीमें गठित कर संबंधित गांव में भेज दीं। गांव में जाकर टीमों ने ओआरएसए जिंक और एंटी डायरिया ड्रग सहित तमाम अन्य दवाइयां वितरित कीं व 11 लोगों का उनके घरों पर उपचार किया। इसके बाद विभाग ने पड़ताल में पाया कि इस श्राद्ध का खाना खाकर करीब 33 लोग बीमार हुए हैं। हालांकि खाना खाने के बाद बीमार पड़े कुछ लोग निजी, कुछ मार्कंडेय अस्पताल तो कुछ बिलासपुर अस्पताल में उपचार के लिए पहुंच चुके थे । बहरहाल अब 22 लोग अस्पतालों में उपचाराधीन हैं। बताया जा रहा है कि दोपहर को गांव में खाना खाने के बाद शाम होते-होते लोगों को उल्टियां व दस्त शुरू हो गए। देखते ही देखते धाम खाने वाला हर व्यक्ति इसकी चपेट में आने लगा। इतने में कुछ ने इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल का रुख किया। इनमें से कुछ को चिकित्सकों ने उपचार के बाद घर भेज दिया तो कुछ की तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कर लिया गया। सीएमओ डा. प्रकाश चंद ने बताया कि टीमों ने सभी का स्वास्थ्य अब पहले से बेहतर है ।

 

 

You might also like