सरकार HRTC को दे रोडवेज का दर्जा; कर्मचारियों ने एडवांस में रखी मांगें, वेतन विसंगति को करें दूर

By: Nov 30th, 2022 12:08 am

स्टाफ रिपोर्टर-शिमला

प्रदेश में विधानसभा चुनावों के लिए हुए मतदान की गणना के बाद स्पष्ट हो जाएगा कि किसकी सरकार हिमाचल में बनने वाली हैं। हालांकि नई सरकार के बनने में अभी समय हैं, लेकिन एचआरटीसी कर्मचारियों ने आने वाली सरकार से एडवांस में मांगें उठाई हैं। एचआरटीसी की संयुक्त समन्वय समिति के महासचिव खेमेंद्र गुप्ता का कहना है कि प्रदेश में चाहे किसी भी पार्टी की सरकार बने, लेकिन एचआरटीसी कर्मचारियों की समस्याओं को प्रमुखता से सुलझाया जाए। उनका कहना है कि प्रदेश में आपदा के समय में हमेशा एचआरटीसी कर्मचारियों को याद किया जाता हैं। चाहे कोविड के समय की बात हो या फिर अन्य परिस्थितियों की हो।

उन्होंने मांग उठाई है कि पिछले काफी समय से चली आ रही एचआरटीसी कर्मचारियों की मुख्य मांग एचआरटीसी को रोडवेज का दर्जा दिया जाए। एचआरटीसी कर्मचारियों की समस्याओं को समाप्त करने का यही एक समाधान हैं। रोडवेज का दर्जा मिलने से एचआरटीसी कर्मचारियों को उनका वेतन व अन्य भत्तों का भुगतान ट्रैजरी के माध्यम से किया जाना चाहिए, ताकि वेतन व अन्य भत्तों के भुगतान में उन्हें देरी न हो। इसके अलावा उन्होंने यह मांग भी उठाई कि नई सरकार में एचआरटीसी कंडक्टरों की वेतन विसंगति को प्रमुखता से दूर किया जाए। एचआटीसी कंडक्टर पिछले काफी समय से मांग कर रहे हैं, कि उनकी वेतन विसंगति को दूर किया जाए, लेकिन उनकी वेतन विसंगति का अभी तक कोई समाधान नहीं निकल पाया हैं। इसके अलावा उन्होंने 36 महीनों से लंबित नाइट ओवर टाइम को जारी करने की मांग उठाई हैं।