आचार संहिता के चलते लट*क गए रेगूलराइजेशन ऑर्डर

By: Jun 10th, 2024 8:17 pm

तीन महीने से टीजीटी कर रहे नियमितीकरण का इंतजार

मुख्यमंत्री, शिक्षा सचिव और शिक्षा सचिव से उठाया मामला

स्टाफ रिपोर्टर-शिमला

नियमितीकरण का इंतजार करते तीन माह बीत गए मगर प्रदेश में सैंकड़ों टीजीटी शिक्षकों को नियमितीकरण नहीं हो सका है। जो नियमितीकरण सूची मार्च में जारी होनी थी, उसको आचार संहिता के चलते विभाग आगे सरकाता गया। अब आचार संहिता हटने पर भी ये लिस्ट जारी नहीं हुई और नई आचार संहिता दस जुलाई तक लग गई। ऐसे में शिक्षकों को बहुत नुकसान हो रहा है। लोकसभा आचार संहिता हटने के बाद अब तक नियमितीकरण आदेश जारी हो जाने चाहिए थे क्योंकि इसके लिए वांछित दस्तावेज विभाग मार्च में ले चुका है। ऐसे में यह नियमितीकरण आदेश तत्काल जारी होने चाहिए ताकि नई लोकसभा आचार संहिता इसमें बाधा नहीं बने।

राजकीय टीजीटी कला संघ ने प्रदेश मुख्य सचिव, शिक्षा सचिव और मुख्यमंत्री को भेजी है। राजकीय टीजीटी कला संघ के प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कौशल ने टीजीटी शिक्षकों की लंबित नियमितीकरण सूची निकालने के लिए आग्रह पत्र भेजा है। संघ ने बताया कि प्रदेश में टीजीटी से प्रवक्ता प्रमोशन लिस्ट में एक साल विलंब करने से शिक्षक नाराज है और अब फिर से आचार संहिता लगने से नई भर्तियां और नियुक्तियां लटक जाने से शिक्षक वर्ग को फिर से निराशा हाथ लगी है।

-सोनिया-


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App