डा. राकेश कपूर, स्वतंत्र लेखक

हिमाचल प्रदेश के किन्नर कैलाश, धौलाधार और मध्य हिमालय क्षेत्र में विगत 10 वर्षों में 265 नई ऐसी झीलों का निर्माण रिकॉर्ड किया गया है जिससे संपूर्ण ऊपरी क्षेत्र में एवलॉन्च आने की गति और संख्या दोनों बढ़ सकती हैं… भारत में यद्यपि विश्व के अन्य भूभागों की तरह बड़ी नदी बांध परियोजनाओं के विरोध

एनटीपीसी द्वारा बनाई जा रही तपोवन-विष्णुगाड़ परियोजना की डीपीआर में उल्लेख था कि भूगर्भ वैज्ञानिकों ने सलाह दी कि जिस स्थल पर बैराज प्रस्तावित है (जिसके अब ध्वंसावशेष खड़े हैं), उसे वहां नहीं बनाया जाना चाहिए क्योंकि वहां (जहां सुरंग बनेगी) गर्म पानी के सोते (हॉट वॉटर स्प्रिंग्स) होने की संभावना है। फिर डीपीआर में