आमिर खान के रियलिटी टीवी शो सत्यमेव जयते के पहले सीजन ने टीआरपी के सारे रेकार्ड तोड़ दिए थे। आमिर ने जिस तरह से समाज के हर तबके की तस्वीर को इस शो में कहानी में बयां किया था, उसका असर गहरा रहा था। उन्होंने लोगों के दर्द को दिल से महसूस किया था। शो

स्त्री की आभासी स्वतंत्रता के पीछे का कटु यथार्थ यदाकदा हमारे सामने आता है लेकिन पश्चिमी अंधभक्ति हमको ऐसे विषयों पर विमर्श करने से रोकती है। एक ऐसे ही कटु सत्य का खुलासा हाल ही में हुआ है लेकिन आदत  की मजबूरी के कारण हमने इसको खास तवज्जे नहीं दी। व्हाइट हाउस की एक रिपोर्ट

सिनेमा जगत के युगपुरुष पृथ्वीराज कपूर जन्म : 3 नवंबर, 1901 मृत्यु : 29 मई, 1972 बच्चे : राज कपूर, शम्मी कपूर, शशि कपूर, उर्मिला सियाल कपूर, नंदी कपूर, देवी कपूर सम्मान : पद्म भूषण  पृथ्वीराज कपूर हिंदी फिल्म और रंगमंच अभिनय के इतिहास पुरुष थे, जिन्होंने मुंबई में पृथ्वी थियेटर स्थापित किया। भारतीय सिनेमा

कभी बड़ा बैग, तो कभी छोटा बैग। यही नहीं, बैग के फैब्रिक में भी काफी बदलाव हुआ है। तभी तो सारी महिलाएं फैशन के अनुरूप एक सुंदर बैग अपने साथ जरूर कैरी करना चाहती हैं, ताकि वे कहीं भी बाहर जाते समय अपने जरूरी सामान को कैरी कर सकें। सच तो यही है कि आउटफिट्स

आरुषि ने मात्र नौ वर्ष की आयु से ही बास्केटबाल खेलना शुरू कर दिया था। बास्केटबाल कोच नीलम व श्याम से बास्केटबाल की बारीकियां सीखते हुए आरुषि ने खेलने-कूदने की उम्र में कड़ा परिश्रम करना शुरू कर दिया… छोटी उम्र में ही बिलासपुर की एक खिलाड़ी ने खेल क्षेत्र में बड़ा नाम कमा लिया है।

सुनील ग्रोवर को अपने नए शो का नाम मिल गया है। ‘मेड इन इंडिया’ नाम से वह अपना कॉमेडी शो लेकर आ रहे हैं, जो स्टार प्लस पर प्रसारित होगा। इस समय इसके प्रोमो टीवी पर दिखाए जा रहे हैं, जो शो के प्रति उत्सुकता जगाते हैं। सुनील के इस शो में मनीष पॉल और

बालीवुड में छरहरी काया वाली अभिनेत्रियों को तरजीह दिए जाने के चलन में बदलाव आ रहा है। अभिनय के बल पर सुडौल काया वाली अभिनेत्रियों ने अपने बालीवुड में जगह बनाई है। इस सूची में विद्या बालन, हुमा कुरैशी जैसे कई नाम भी शामिल हैं, जिन्होंने अपनी सुडौल काया की शान दिखाई… हुमा कुरैशी :

प्रीतिका राव बालीवुड एक्ट्रेस अमृता राव की छोटी बहन हैं। उन्हें अपनी तुलना अमृता से किए जाने का कोई डर नहीं और न ही वह उनकी तरह बनना चाहती हैं। प्रीतिका इन दिनों बेइंतहा नामक सीरियल में नजर आ रही हैं। जानें प्रीतिका से जुड़ी खास बातें… साउथ इंडस्ट्री में काम करने के दौरान आपने

सुबह- सुबह आ जाता सूरज, दंगा नहीं मचाता सूरज। न आंधी न धूल पसीना, सर्दी में मन भाता सूरज। नरम दूब पर छाया रहता, यहां- वहां इतराता सूरज। दिन भर मेरे साथ खेलता, शाम ढले घर जाता सूरज।

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई से लगभग 400 किमी दूर गोवा में मांडवी नदी के उत्तरी किनारे पर अगुआड़ा दुर्ग स्थित है। अरब सागर के किनारे स्थित इस दुर्ग का नामकरण पुर्तगालियों ने एक मीठे पानी के झरने के नाम पर किया था। मात्र 8 वर्ष में 1612 ई. में इस किले का निर्माण हुआ।  पुर्तगालियों