आपकी किसी से बनती क्यों नहीं : पी. के. खुराना, राजनीतिक रणनीतिकार

May 28th, 2020 12:06 am

पीके खुराना

राजनीतिक रणनीतिकार

दुनिया में कौन पूर्ण है? हरेक में कुछ न कुछ त्रुटियां रहती हैं, फिर दूसरों के दोष ढूंढकर उनको सुधारने की कोशिश करना अनुचित ही समझना चाहिए। जैसा कि ईसा ने कहा था कि लोग दूसरों की आंख का तिनका तो देखते हैं, पर अपनी आंख का शहतीर भी नहीं देखते। दूसरों को सीख देना बहुत आसान काम है। अपने ही आदर्शों पर स्वयं अमल करना कठिन है। अगर आप अपने को ही सुधारने का प्रयत्न करें और दूसरों के अवगुणों पर टीका-टिप्पणी करना बंद कर दें तो आप सफलता के ज्यादा करीब हो जाएंगे। अगर हमारा जीवन एक चमकती रोशनी की तरह आकर्षक होगा तो सैकड़ों-हजारों परवाने बरबस एकत्र होंगे और हमारे जरा से इशारे पर बड़ी से बड़ी कुर्बानी करने के लिए तैयार रहेंगे…

एक विशाल कांच के महल में न जाने कहां से एक भटका हुआ कुत्ता घुस गया। हजारों कांच के टुकड़ों में अपनी  शक्ल देखकर वह चौंका। उसने जिधर नजर डाली, उधर ही हजारों कुत्ते दिखाई दिए। वह समझा कि ये सब कुत्ते  उस पर टूट पड़ेंगे और उसे  मार डालेंगे। अपनी भी शान दिखाने के लिए वह भौंकने लगा। उसे सभी कुत्ते भौंकते दिखाई पड़े। उसकी ही आवाज  की प्रतिध्वनि उसके कानों में जोर-जोर से आई। उसका दिल धड़कने लगा। वह और जोर से भौंका। सब कुत्ते भी अधिक जोर से भौंकते दिखाई दिए। आखिर  वह उन कुत्तों पर झपटा। वे भी उस पर झपटे। बेचारा जोर-जोर से उछला-कूदा, भौंका और चिल्लाया और अंत में गश खाकर गिर पड़ा। कुछ देर बाद उसी महल में एक दूसरा कुत्ता आया। उसको भी हजारों कुत्ते दिखाई दिए। वह डरा नहीं। प्यार से उसने अपनी दुम हिलाई। सभी कुत्तों की दुम हिलती दिखाई दी। वह खूब खुश हुआ और उन कुत्तों की ओर बढ़ा। सभी कुत्ते उसकी ओर बढ़े। वह प्रसन्नता से उछला-कूदा। अपनी ही छाया से खेला, खुश हुआ और फिर पूंछ हिलाता हुआ बाहर चला गया। जब मैं अपने आसपास के लोगों को हमेशा परेशान, नाराज और चिड़चिड़ाते देखता हूं, तब इसी किस्से का स्मरण हो जाता है। मैं उनकी  मिसाल भौंकने वाले कुत्ते से नहीं देना चाहता। यह तो हद दर्जे की बदतमीजी होगी। पर इस कहानी से वे चाहें तो कुछ सबक जरूर सीख सकते हैं। यह दुनिया कांच के एक महल जैसी है। अपने स्वभाव की छाया ही हम पर पड़ती है। ‘आप भले तो जग भला, आप बुरे तो जग बुरा।Ó अगर आप प्रसन्नचित रहते हैं, दूसरों के दोषों को न देखकर उनके गुणों की ओर ध्यान देते हैं तो दुनिया भी आपसे नम्रता और प्रेम का बर्ताव करेगी। अगर आप हमेशा लोगों के ऐबों की ओर देखते हैं, उन्हें अपना शत्रु मानते हैं और उन पर गुस्सा करते हैं तो फिर वे क्यों न आपकी ओर भौंकते दौड़ेंगे? अंग्रेजी में एक कहावत है कि अगर आप हंसेंगे तो दुनिया भी आपके साथ हंसेगी, पर अगर आपको गुस्सा होना और रोना ही है तो दुनिया से दूर किसी जंगल में चले जाना ही हितकर होगा।

अमरीका के मशहूर राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन से किसी ने उनकी सफलता का सबसे बड़ा कारण जानना चाहा तो उन्होंने जरा देर सोचकर उत्तर दिया, ‘मैं दूसरों की अनावश्यक नुक्ताचीनी कर उनका दिल नहीं दुखाता।’ इसी तरह के प्रश्न का उत्तर देते हुए हेनरी फोर्ड ने कहा था, ‘मैं हमेशा दूसरों के दृष्टिकोण को समझने की कोशिश करता हूं।’ ये दो छोटे-छोटे वाक्य शब्दों का संयोजन मात्र नहीं हैं। इनकी गहराई को समझा जाए तो हमारी जिंदगी में क्रांति हो जाए। कुछ लोगों की यही कमजोरी है। वे दूसरों का दृष्टिकोण समझने की कोशिश ही नहीं करते, बल्कि दूसरों के विचारों, काम, भावनाओं आदि की आलोचना करना ही अपना परम धर्म समझते हैं। शायद उनका विचार है कि ईश्वर ने उन्हें लोगों को सुधारने के लिए ही भेजा है, पर वे यह भूल जाते हैं कि शहद की एक बूंद एक सेर जहर के बजाय ज्यादा मक्खियों को आकर्षित करती है। दुनिया में कौन पूर्ण है? हरेक में कुछ न कुछ त्रुटियां रहती हैं, फिर दूसरों के दोष ढूंढकर उनको सुधारने की कोशिश करना अनुचित ही समझना चाहिए। जैसा कि ईसा ने कहा था कि लोग दूसरों की आंख का तिनका तो देखते हैं, पर अपनी आंख का शहतीर भी नहीं देखते। दूसरों को सीख देना बहुत आसान काम है। अपने ही आदर्शों पर स्वयं अमल करना कठिन है। अगर आप अपने को ही सुधारने का प्रयत्न करें और दूसरों के अवगुणों पर टीका-टिप्पणी करना बंद कर दें तो आप सफलता के ज्यादा करीब हो जाएंगे।

अगर हमारा जीवन एक चमकती रोशनी की तरह आकर्षक होगा तो सैकड़ों-हजारों परवाने बरबस एकत्र होंगे और हमारे जरा से इशारे पर बड़ी से बड़ी कुर्बानी करने के लिए तैयार रहेंगे। याद रखिए कि अंधेरे की ओर कोई नहीं खिंचता है, क्योंकि वहां तो ठोकर खाकर गिर जाने की ही संभावना अधिक होती है। इसी सिलसिले में एक बात और। आप तो दूसरों की नुक्ताचीनी नहीं करेंगे, ऐसी उम्मीद है, पर दूसरे ही अगर आपकी नुक्ताचीनी करना न छोड़ें, तो? कुछ लोग अपनी बुराई या आलोचना सुनकर आगबबूला हो जाते हैं, भले ही वह दिन भर सारी दुनिया की आलोचना करते रहें। ध्यान से सोचिए, जब कोई आपकी आलोचना करता है तो उसे आप में कोई कमी नजर आई होगी, तभी तो आलोचना हुई। यदि निंदक ने आपका ध्यान आपके अवगुणों की ओर दिला दिया है तो आत्मविश्लेषण कीजिए और अपने अवगुणों को दूर करने का जी-जान से प्रयत्न कीजिए। यही नहीं, उसका उपकार मानिए कि उसने आपके उन दोषों की ओर ध्यान दिलाया जिनकी ओर  से आपने आंखें मूंद रखी थीं। एक दिन हमारे एक मित्र के कार्यालय के एक कर्मचारी से कुछ गलती हो गई। हमारे मित्र तुरंत बिगड़कर बोले, ‘देखिये महाशय, यह आपकी सरासर गलती है। आइंदा ऐसा करेंगे तो ठीक नहीं होगा।’ बेचारे महाशय जी बड़े दुखी हुए। सबके सामने उनका अपमान हो गया। मन में क्रोध जागृत हुआ और वे बिना कुछ उत्तर दिए ही उठकर चले गए।

दूसरे दिन मैंने उन महाशय से एकांत में कहा, ‘देखिए, गलती तो सभी से होती है। ऐसी गलती मैं भी कर चुका हूं। इसमें दुखी होने का कोई कारण नहीं है। आप तो बड़े समझदार हैं। कोशिश करें तो यह तो क्या, बड़ी से बड़ी गलती भी सुधारी जा सकती है।’ ठीक है न, उनकी आंखों में आंसू छलछला आए। बड़े प्रेम से बोले, ‘जी हां, मैं अपनी गलती मानता हूं। आगे भला मैं वही गलती क्यों करने लगा?’ पर कोई मुहब्बत से पेश आए तब न। आदमी प्रेम का भूखा रहता है। केवल रोटी का नहीं। थोड़े से मीठे शब्दों ने अपना काम तुरंत कर दिया। अपने व्यवहार में मिठास लाने के लिए एक कौड़ी भी तो खर्च नहीं होती, पर करोड़ों दिलों  को जीता जा सकता है। सभी के दिल हमारे जैसे ही हैं। किसी व्यक्ति का दिल दुखाने या उसे कड़वा बोलने से हमें कोई लाभ तो होता नहीं, उल्टे हानि की आशंका अवश्य होती है। फिर क्यों न हम मीठा बोलकर अपनी व दूसरों की जिंदगी में मधुर चांदनी सी बिखेर दें?

ईमेलः indiatotal.features@gmail.com

Himachal List

Free Classified Advertisements

Property

Land
Buy Land | Sell Land

House | Apartment
Buy / Rent | Sell / Rent

Shop | Office | Factory
Buy / Rent | Sell / Rent

Vehicles

Car | SUV
Buy | Sell

Truck | Bus
Buy | Sell

Two Wheeler
Buy | Sell

Polls

क्या हिमाचल कैबिनेट के विस्तार और विभागों के आबंटन से आप संतुष्ट हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Miss Himachal Himachal ki Awaz Dance Himachal Dance Mr. Himachal Epaper Mrs. Himachal Competition Review Astha Divya Himachal TV Divya Himachal Miss Himachal Himachal Ki Awaz