मैगजीन

हिमाचल प्रदेश अपनी समृद्ध संस्कृति, विभिन्न मेले, उत्सव और त्योहारों के लिए प्रसिद्ध है। ये सारे त्योहार जहां हम सबको...

भारतीय पंचांग (खगोलीय गणना) के अनुसार प्रत्येक तीसरे वर्ष एक अधिक मास होता है। यह सौर और चंद्र मास को...

सर्वपितृ अमावस्या आश्विन माह की अमावस्या को कहा जाता है। आश्विन माह का कृष्ण पक्ष वह विशिष्ट काल है जिसमें...

महाराष्ट्र का अंबरनाथ मंदिर भगवान शिव को समर्पित है इसे अंबरेश्वर नाम से भी जाना जाता है। यहां के निवासी...

विश्वकर्मा पूजा 16-17 सितंबर को मनाई जाती है। हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल विश्वकर्मा पूजा कन्या संक्रांति को होती...

-गतांक से आगे… मायाप्रपञ्चदूराय नीलाचलविहारिणे। माणिक्यपुष्परागाद्रिलीलाखेलप्रवर्त्तिने॥ 18॥ मायाप्रपञ्च (की परिधि) से दूर रहने वाले, नीलाचल (जगन्नाथ पुरी)में विहार करने वाले...

बाबा हरदेव महात्माओं ने कर्म तीन प्रकार के बताए हैं संचित कर्म, प्रारब्ध कर्म व क्रियमाण कर्म।  संचित कर्म- मनष्य...

श्रीराम शर्मा  मनुष्य में एक बुरी आदत है काम को टाल देने की। अपनी इसी आदत के कारण हम कभी-कभी...

श्रीश्री रवि शंकर  धैर्य के साथ सच्चाई की कामना करें फिर क्रोध हावी नहीं होगा। अन्यथा जब आप कहते हैं,...