Divya Himachal Logo May 22nd, 2017

विचार


सेना से बदसलूकी पर भी कुछ बोलें अब्दुल्ला

( डा. राजेंद्र प्रसाद शर्मा (ई-मेल के मार्फत) )

सोशल मीडिया पर इन दिनों कश्मीर में सेना को लेकर वायरल हो रहे दो वीडियो और उन पर प्रतिक्रियाएं गंभीर चिंता का विषय है। एक वायरल वीडियो में चुनाव कराकर आ रहे सैनिक के साथ कश्मीरी युवाओं द्वारा जिस तरह से अभद्रता की जा रही है और उसके बाद भी सैनिक द्वारा संयम बरतना अपने आप में भारतीय सैनिकों की सहनशीलता का परिचायक है, तो दूसरे वायरल वीडियो में सैनिकों द्वारा सेना के वाहन पर एक पत्थरबाज को बोनट पर बांधकर सुरक्षा कवच की तरह उपयोग करते हुए दिखाया गया है। इस वीडियो के मुद्दे को संसद में भी उठाया गया है और फारुक अब्दुला-उमर अब्दुला सहित अनेक नेताओं ने इस पर आपत्ति व्यक्त की है।  इन वीडियो पर सोशल मीडिया पर आ रही मुखर प्रतिक्रियाएं जनभावनाओं को समझने और तथाकथित मानवाधिकारवादियों की आंखें खोलने के लिए प्रर्याप्त हैं। प्रश्न यह उठता है कि देश की सरहदों की रक्षा करते हुए जान न्यौछावर करने वाले सैनिकों का बलिदान इन प्रतिक्रियावादी नेताओं को क्यों दिखाई नहीं देता। न ही तथाकथित मानवाधिकारवादियों को सैनिकों के साथ बदसलूकी या आए दिन हो रही पत्थरबाजी दिखाई दे रही है। जम्मू-कश्मीर की समस्या आज की समस्या नहीं है। यह भी सही है कि जो भी सरकार आई, उसने अलगाववादियों को गोद में बैठाकर अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने का प्रयास किया। अलगाववादियों को देश की राजधानी में जगह दी गई और इतना सब कुछ होने के बावजूद यही अलगाववादी देश की अस्मिता को खुली चुनौती दे रहे हैं। देश की जनता चाहती है कि अब्दुल्ला सैनिकों से बदसलूकी को लेकर भी संसद में कुछ बोलें।

 

April 18th, 2017

 
 

भारत का गहना

( डा सत्येंद्र शर्मा, चिंबलहार, पालमपुर ) दिव्य प्रकृति शृंगार करती, प्रति पल इसे सजाती, हिम आच्छादित पर्वतमाला, चांदी सी बिखराती। कलकल करते झरने बहते, नदियां बल खातीं, यौवन रूप छिपाती हैं, बालाएं शर्मातीं। सदा अग्रसर युवक-युवतियां, आगे बढ़ते जाते, क्या किसान क्या बागबान, गीत […] विस्तृत....

April 18th, 2017

 

सुरक्षा में न हो चूक

( जयेश राणे, मुंबई, महाराष्ट्र ) विमान अपहरण की सूचना पर मुंबई, हैदराबाद व चेन्नई हवाई अड्डों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। देश के मुख्य हवाई अड्डों पर पुख्ता सुरक्षा के विषय में चौकन्ना रहना जरूरी है, ताकि कोई अपहरण या आक्रमण की सूचना […] विस्तृत....

April 18th, 2017

 

और यह भी…

( सुरेश कुमार, योल ) सब जानते थे कि सत्ता के पांचवें साल में ही सब होना था, फिर क्यों कर्मचारी व्यर्थ में धरना-प्रदर्शन करते रहे। चुनावी वर्ष है, घोषणाओं की वर्षा हो रही है और बजट का सूखा पड़ा है। जहां इतना ऋण उठाया […] विस्तृत....

April 18th, 2017

 

फुटबाल में करियर बनाने को हर दिन पै्रक्टिस

फुटबाल में करियर बनाने को हर दिन पै्रक्टिसहिमाचल फोरम ‘दिव्य हिमाचल’ फुटबाल लीग को लेकर प्रदेशभर के युवाओं में खासा जोश है। मीडिया गु्रप की अनूठी पहल से जहां युवाओं को विश्व के नंबर वन खेल में अपनी पहचान बनाने का मौका मिलेगा, वहीं खेल से उनके अंदर छिपी प्रतिभा भी बाहर […] विस्तृत....

April 17th, 2017

 

महात्मा हंसराज

महात्मा हंसराज का जन्म 19 अप्रैल,  1864 ई. को होशियारपुर जिला, पंजाब के बजवाड़ा नामक स्थान पर हुआ था। इनके पिता चुन्नीलाल जी साधारण परिवार से संबंध रखते थे। हंसराज जी का बचपन अभावों में व्यतीत हुआ था। वह बचपन से ही कुशाग्र बुद्धि के […] विस्तृत....

April 17th, 2017

 

नौकरी के नजराने से प्रतिभा का सम्मान

नौकरी के नजराने से प्रतिभा का सम्मानभूपिंदर सिंह भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं बर्फ के प्रदेश की संतानें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तिरंगे को सबसे ऊपर उठाती हैं, तो हर प्रदेशवासी का सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है। अजय ठाकुर को बधाई तथा सरकार से अपेक्षा रहेगी कि अन्य […] विस्तृत....

April 17th, 2017

 

कहानियों में प्रतिपादित विषय

वही कहानी सफल मानी जाती है, जो पाठक को शुरू से लेकर अंत तक बांधे रखती है। पाठक को कहानी से बांधने का गुर हर किसी के पास नहीं होता। एक सफल कहानीकार कहानी के संदर्भ को हकीकत के धरातल पर उतारकर उसमें रंग भरता […] विस्तृत....

April 17th, 2017

 

हम किसी से कम नहीं

गंगा राम राजी आज की कहानी में कहानी के तत्त्व कथानक, पात्र संवाद, देश, काल, भाषा शैली और उद्देश्य आदि की चर्चा नहीं हो सकती। आज कहानी में इनकी अनिवार्यता खोजना कहानी के स्थूल रूप को दर्शाना है। कथानक में ह्रास आया है और चरित्रों […] विस्तृत....

April 17th, 2017

 

हिंदी कहानी के महारथी

आशा कुमारी हिंदी कहानी के आरंभ से ही हिंदी जगत में हिमाचली हिंदी कहानी की अपनी एक विशिष्ट परंपरा रही है। चंद्रधर शर्मा गुलेरी की ‘उसने कहा था’ से लेकर वर्तमान समय में हिमाचल के विभिन्न कहानीकारों द्वारा लिखी जा रही कहानियां एक विशेष उद्देश्य […] विस्तृत....

April 17th, 2017

 
Page 30 of 2,075« First...1020...2829303132...405060...Last »

पोल

क्या कांग्रेस को हिमाचल में एक नए सीएम चेहरे की जरूरत है?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates