himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

जीएसटी से आगे की राह

डा. भरत झुनझुनवाला लेखक, आर्थिक विश्लेषक  एवं टिप्पणीकार हैं बड़े उद्योगों का बाजार बढ़ने से इनके शेयर उछल रहे हैं। यदि बड़े उद्योगों द्वारा उत्पादन में पांच प्रतिशत की वृद्धि हो रही है। तो छोटे उद्योगों द्वारा 20 प्रतिशत की कटौती हो रही…

एक देश, एक कर का सुखद एहसास

सुरेंद्र कुमार लेखक, करसोग, मंडी से हैं शुरुआत में व्यापारियों को यह कर प्रणाली बोझपूर्ण लग सकती है, परंतु वास्तव में इससे कर ढांचा सरल होगा। इसके लागू होने से शुरू के एक आध वर्ष हमें महंगाई से कुछ हद तक जूझना पड़ेगा, लेकिन समय बढ़ने के…

ट्रंप के रुख से उलझन में पाक

कुलदीप नैयर लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं। अमरीका के नए राष्ट्रपति के साथ अपनी पहली मुलाकात में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ी ही चतुराई के साथ ट्रंप कार्ड खेला। पहले केंद्र की सत्ता में मजबूती के साथ आना और अब जिस तरह से देश के विभिन्न…

दुनिया के नक्शे पर हिमाचली पहचान

कर्म सिंह ठाकुर लेखक, सुंदरनगर, मंडी से हैं कांगड़ा कलम, चंबा रूमाल, कुल्लू शाल-टोपी में इतनी क्षमता तो है कि वे दुनिया के सबसे ताकतवर राष्ट्र के मुखिया के भेंट की सामग्री बन गए, लेकिन प्रदेश में इनके विपणन केंद्रों, आधुनिकीकरण व…

चीन की जूती, चीन के सिर

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री अग्निहोत्री लेखक, वरिष्ठ स्तंभकार हैं चीन चाहता है कि कैलाश मानसरोवर की यात्रा सुविधा को ही चीन के साथ अच्छे संबंधों का प्रमाण मान लिया जाए और सीमा विवाद पर भारत चीन को रियायत दे। लेकिन न तो यह 1962 है और न ही यह…

सामाजिक समस्याओं की जड़ है बेरोजगारी

हरि मित्र भागी लेखक, धर्मशाला, कांगड़ा से हैं विश्व के विभिन्न देशों में कई शीर्ष कंपनियों के कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक भारतीय हैं। जहां यह हमारे लिए गर्व का विषय है, वहीं हमारे स्वाभिमान पर चोट भी तो करता है। जो चिकित्सक,…

भारत में कोई जातिवाद खत्म नहीं करना चाहता

प्रो. एनके सिंह लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए की तरफ से दलित उम्मीदवार के नाम की घोषणा की गई। इसके साथ यह भी दावा किया गया कि इस घोषणा का आधार महज जाति नहीं है, बल्कि उनके अनुभव और शैक्षणिक…

सामने आ रही प्रतिभाओं को निखारो

भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं सरकारी नौकरी में लगे खिलाडि़यों को प्रशिक्षण के लिए पूरा समय देना होगा। खिलाड़ी को अभ्यास के लिए समय नहीं मिलेगा, तो उसकी प्रतिभा दम तोड़ती जाएगी। यह सरकार का भी दायित्व बनता है कि वह…

कब तक तोते पालेंगे हम

पीके खुराना लेखक, वरिष्ठ जनसंपर्क सलाहकार और विचारक हैं देश के नागरिकों को अपना प्रतिनिधि चुनने के लिए अपनी मर्जी से वोट देने का अधिकार है, लेकिन चुने गए प्रतिनिधियों को संसद अथवा विधानसभा में अपनी मर्जी से वोट देने का अधिकार नहीं है। संसद…

पहचान बिगाड़ते सड़क हादसे

वंदना राणा लेखिका, शिमला से हैं देवभूमि की एक नई पहचान अब सड़क हादसों के रूप में स्थापित होने लगी है। सड़कें उतनी ही रहेंगी, जितनी कि वे हैं। सड़कों पर चलते वक्त चालक कायदे-कानूनों का पालन करेंगे, तो हादसों से बचा जा सकता है। हादसों को…

नेतृत्व गंवाता अमरीका

( डा. अश्विनी महाजन लेखक, प्रोफेसर, पीजीडीएवी कालेज दिल्ली से हैं ) हाल ही तक सब विषयों में अमरीका एक नेतृत्व की भूमिका में रहा है। पेरिस संधि से बाहर आने के बाद अमरीका की इस भूमिका पर असर पड़ेगा और उसका स्थान भारत, चीन, जापान जैसे देश ले…

लिंगानुपात सुधार का जटिल प्रश्न

( बचन सिंह घटवाल लेखक, मस्सल, कांगड़ा से हैं ) लड़कियों को बोझ समझने वालों की आंखें खोलने के लिए व गिरते लिंगानुपात को रोकने के लिए सरकार विभिन्न नीतियों, कार्यक्रमों व लघु नाटकों के प्रदर्शन के मार्फत जागृति संदेश प्रसारित करती रही है।…

आईसीयू में पहुंच चुका हिंदुत्व

डा. भरत झुनझुनवाला लेखक, आर्थिक विश्लेषक एवं टिप्पणीकार हैं सोच है कि सृष्टि में जो भी है वह ब्रह्म ही है। ब्रह्म के अलावा कुछ नही है। तब दलित और मुसलमान भी ब्रह्म ही हुए। इन्हें चिन्हित करके इन पर प्रहार करके हम अपनी व्यापकता को त्याग कर…

शर्तों ने पेचीदी की पुरस्कार की पात्रता

सुरेश शर्मा लेखक, धर्मशाला से हैं विभाग व सरकार को चाहिए कि वे अपने अध्यापकों, पाठशाला के मुखियाओं पर निगरानी रखे। व्यवस्था में कमी पाए जाने पर दंड का विधान भी हो तथा उत्कृष्ट कार्य करने वाले अध्यापकों का सम्मान भी हो। अपने उत्कृष्ट कार्य…

परोपकार का नया धंधा

पीटर बफेट  लेखक, संगीतज्ञ एवं वरिष्ठ टिप्पणीकार  हैं। दूसरों पर उपकार करने से ये समस्याएं सुलझाई नहीं जा सकतीं केवल टाली जा सकती हैं। मुझे तो उपकार शब्द से ही नफरत हो चली है। आज हमारी कल्पना भी भंवर में फंसी  है। वैज्ञानिक एलबर्ट आइंस्टाइन…
?>