घाटी सुब्रमण्या मंदिर

हिंदू धर्म में सर्पों की पूजा का विशेष महत्त्व है। नाग पंचमी के अवसर पर देशभर के मंदिरों में नाग देवता की पूजा की जाती है। बंगलूर शहर से 60 किमी. की दूरी पर डोड्डाबल्लापुरा तालुका के पास नाग देवता का विशेष मंदिर है, जिसे घाटी सुब्रमण्या…

सिद्ध बाबा शिब्बोथान

हिमाचल देवभूमि के नाम से अपने आंचल में स्थित अनेक प्राचीन देवस्थलों के लिए जाना जाता है। प्राचीनकाल से ही इन देवस्थलों पर लगने वाले मेलों से आपसी भाईचारे की अनूठी मिसाल मिलती है। उतरी भारत में इन्हीं देवस्थलों में कांगड़ा जिला का…

ब्रह्महत्या से मुक्ति दिलाता है कामदा एकादशी व्रत

कामदा एकादशी को पवित्रा एकादशी के नाम से भी पुकारा जाता है। पुराणों के अनुसार श्रावण कृष्ण पक्ष की एकादशी कामदा है। इस दिन भगवान श्रीधर की पूजा की जाती है... विधि इस दिन प्रातः स्नानादि से निवृत्त होकर भगवान विष्णु को पंचामृत स्नान कराके…

मानसून में न खाएं पत्‍तेदार सब्‍जियां

आपने हरी सब्जियों के महत्त्व के बारे में तो सुना ही होगा। हरी सब्जियां खाने से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और बॉडी को कई तरह के लाभ भी मिलते हैं। फलों और सब्जियों में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, विटामिन और मिनरल्ज होते…

श्री गोरख महापुराण

हिंगलाज देवी का दर्शन करके मछेंद्रनाथ चलकर बाराहमलहार नाम के वन में गए और वहां के ग्राम में पहुंच कर एक मंदिर में शांति से सो गए। रात के दूसरे पहर में उन्हें एक जोरदार आवाज सुनाई दी और असंख्य मशालें दिखाई दीं। यह सब देख मछेंद्रनाथ को लगा कि…

भृगु ने ली त्रिदेवों की परीक्षा

गतांक से आगे... उन्होंने तुरंत माता के चरण पकड़ लिए और उनसे अपनी रक्षा करने की गुहार लगाई। माता पार्वती आगे आई और महादेव से प्रार्थना की कि भृगु तो उनके पुत्र की भांति हैं अतः उन्हें प्राणदान दें। उनके ऐसा कहने पर महादेव का क्रोध थोड़ा…

किसी अजूबे से कम नहीं हैं

महाभारत के पात्र माता कुंती को दिए वचनानुसार उसने किसी भी पांडव का वध नहीं किया। कर्ण ने अपना विजय धनुष उठाया और अर्जुन पर भार्गवास्त्र चला दिया। भार्गवास्त्र से करोड़ों योद्धा मारे गए और बाकी प्राणों की रक्षा के लिए अर्जुन के पास गए।…

रुद्रयामल तंत्र की उपासना दृष्टि विशाल है

रुद्रयामल तंत्र की उपासना-दृष्टि अति विशाल है। तंत्र से संबंधित किस देवता की मंत्र साधना कैसे की जाए, पूर्वाचार्यों ने साधकों के लिए इसका निर्देश किया है। प्रत्येक तंत्र साधक को इन निर्देशों का पालन करना चाहिए। इष्ट देवता ः मत देवता या आत्म…

विनम्रता के प्रति समर्पण

श्रीराम शर्मा विनम्रता के प्रति पूर्ण समर्पण युक्त आस्था जरूरी है। मात्र दिखावे की ओढ़ी हुई विनम्रता, अकसर असफल ही होती है। सोचा जाता है पहले विन्रमता से निवेदन करूंगा यदि काम न हुआ, तो भृकुटि टेढ़ी करूंगा। यह चतुरता विनम्रता के प्रति…

गीता रहस्य

स्वामी रामस्वरूप भाव यह है कि ईश्वर पिताओं का भी पिता है जिसने हमारे पिता, दादा, परदादा आदि सबको जन्म दिया है। ओंकारः पद का अर्थ ॐ है। जो कि जानने योग्य है अर्थात ईश्वर का पवित्र नाम ॐ है और ॐ के जाप, चिंतन,मनन से ईश्वर जाना जाता है...…

अनमोल वचन

* अपने मस्तिष्क को उच्च विचारों और उच्चतम आदर्शों से भर दो। इसके बाद आप जो भी कार्य करेंगे वह महान होगा * अहंकार ज्ञान का उलटा है, जितना ज्ञान होगा उतना कम अहंकार होगा * जीवन में आगे बढ़ने के लिए पहले खुद को अपनी नजरों में उठाइए, दुनिया…

विवेक चूड़ामणि

गतांक से आगे... बुद्धिइंद्रियाणि श्रवण त्वगक्षि घ्राणं च जिह्वा विषयावबोधनात। वाक्पाणिपादं गुदमप्युपस्थः कर्मेंद्रियाणि प्रवणेन कर्मसु ।। श्रवण, त्वचा, नेत्र, घ्राण और जिह्वा ये पांच ज्ञानेंद्रियां हैं, क्योंकि इनसे विषय का ज्ञान होता है…

आत्म पुराण

इसलिए वेद वेत्ता विद्वानों ने वैराग्य को ही संन्यास ग्रहण करने का समय बतलाया है। इस प्रकार की वैराग्य भावना गर्भ काल में कष्टों का विचार करने से, मरणकाल का ज्ञान हो जाने से अथवा योगाभ्यास से उत्पन्न हो सकती है। अथवा उपनिषदों में जो अनेक…

ईयरफोन का ज्‍यादा इस्‍तेमाल बीमारियों का कारण

इसका ज्यादा इस्तेमाल बहुत सी बीमारियों को न्योता देने के साथ-साथ कई बार दुर्घटना का कारण भी बन जाता है। मनोरंजन के लिए गाने सुनना हो या देर रात लैपटॉप में मूवी देखना, ईयरफोन का प्रयोग करना एक आम बात है। हम बस, मेट्रो या कैब में…

शहनाज को नाटक में रानी का रोल दिया गया

सौंदर्य के क्षेत्र में शहनाज हुसैन एक बड़ी शख्सियत हैं। सौंदर्य के भीतर उनके जीवन संघर्ष की एक लंबी गाथा है। हर किसी के लिए प्रेरणा का काम करने वाला उनका जीवन-वृत्त वास्तव में खुद को संवारने की यात्रा सरीखा भी है। शहनाज हुसैन की बेटी नीलोफर…