हरिहर नाथमंदिर

भारत देश में ऐसे कई धार्मिक स्थल हैं, जो आस्था का केंद बने हुए हैं, परंतु साथ ही यह आश्चर्य का विषय भी बने हुए हैं। ऐसा ही एक मंदिर है हरिहर नाथ, जो बिहार की राजधानी पटना से 5 किमी. उत्तर सारण में गंगा और गंडक के संगम पर सोनपुर नामक कस्बे…

सबरीमाला मंदिर में मंडल पूजा अनुष्‍ठान

सबरीमाला मंदिर करीब 800 साल पुराना माना जाता है और इसमें महिलाओं के प्रवेश को लेकर विवाद चला आ रहा है। इसे लेकर ये मान्यता है कि भगवान अयप्पा ब्रह्मचारी माने जाते हैं। जिसकी वजह से इस मंदिर में 10 से 50 साल तक की महिलाओं का आना वर्जित है।…

बृजराज स्वामी मंदिर

हिमाचल प्रदेश में देवी-देवताओं का वास होने के कारण हिमाचल को देवभूमि के नाम से जाना जाता है। हिमाचल प्रदेश में कई देवी-देवताओं के स्थल हैं तथा इन्हीं देवस्थलों में नूरपुर के ऐतिहासिक एवं प्राचीन किले में स्थित भगवान श्रीबृजराज स्वामी…

साधना का सत्य

श्रीराम शर्मा मनुष्य हर तरफ से शास्त्र और शब्दों से घिरा है, लेकिन संसार के सारे शास्त्र एवं शब्द मिलकर भी साधना के बिना अर्थहीन हैं। शास्त्रों और शब्दों से सत्य के बारे में तो जाना जा सकता है, पर इसे पाया नहीं जा सकता। सत्य की…

तिब्बत में छिपा है तंत्र ज्ञान

उसके मर्मभेदी आक्रमण से मैं आहत हो गया। ‘कुछ सिद्ध करने को है। मैं साथ दूंगी।’ वह और समीप आ गई। पथरा-सा गया मैं। चैत्य में गहरा सन्नाटा था। हम दोनों सर्वथा एकांत में थे, पर तंत्र में रुचि रखने के बावजूद परंपरागत संस्कारों के कारण…

किसी अजूबे से कम नहीं हैं महाभारत के पात्र

मुनि के शाप के कारण ही धर्मराज को विदुर जी का अवतार लेना पड़ा था। वे काल की गति को भली-भांति जानते थे। उन्होंने अपने बड़े भ्राता धृतराष्ट्र को समझाया कि महाराज! अब भविष्य में बड़ा बुरा समय आने वाला है। आप यहां से तुरंत वन की ओर निकल चलिए।…

मंत्र जप करने से पहले विनियोग पढ़ा जाता है

प्रत्येक देवी-देवता की साधना में मंत्र जप, कवच एवं स्तोत्र पाठ तथा न्यासादि करने से पहले विनियोग पढ़ा जाता है। इसमें देवी या देवता का नाम, उसका मंत्र, उसकी रचना करने वाले ऋषि, उस स्तोत्र के छंद का नाम, बीजाक्षर शक्ति और कीलक आदि का नाम लेकर…

नासिर से निकाह को तैयार हो गईं शहनाज

सौंदर्य के क्षेत्र में शहनाज हुसैन एक बड़ी शख्सियत हैं। सौंदर्य के भीतर उनके जीवन संघर्ष की एक लंबी गाथा है। हर किसी के लिए प्रेरणा का काम करने वाला उनका जीवन-वृत्त वास्तव में खुद को संवारने की यात्रा सरीखा भी है। शहनाज हुसैन की बेटी नीलोफर…

क्‍यों होता है कमर दर्द

कई बार तो ऐसा होता है कि आप किसी काम को बहुत ही जल्दबाजी में करती हैं और ऐसा करते समय हमारी मांसपेशियां खिंच जाती हंै। मांसपेशियों में होने वाला यही खिंचाव हमारे कमर दर्द का कारण बनता है... बढ़ती उम्र अपने साथ कई तरह की शारीरिक बीमारियां…

श्री गोरख महापुराण

गतांक से आगे... जब बहुत खोजने पर भी उन्हें अपने गुरु नहीं मिले, तो उन्होंने सोचा कि न जाने गुरुदेव कहां रम गए हैं। गोरखनाथ घूमते-घूमते राजा गोपीचंद की राजधानी हैलापट्टन में जा पहुंचे। वहां पहुंचकर उन्हें पता चला कि यहां के राजा ने एक महान…

सच्ची व स्थायी खुशी

श्रीश्री रवि शंकर आज हममें से हरेक खुशी और शांति की तलाश कर रहा है। यह खोज सर्वव्यापी है। आखिरकार दुखी तो कोई भी नहीं रहना चाहता। लोग अलग-अलग तरीकों से खुशियां ढूंढने की कोशिश करते हैं। कुछ इसे धन-दौलत और दुनियावी चीजों में ढूंढते हैं। कुछ…

धर्म के प्रतिनिधि

स्वामी विवेकानंद गतांक से आगे... ऐसा घोषित किया गया था कि पृथ्वी के सभी धर्म संप्रदायों के प्रतिनिधिगण व्याख्याताओं के रूप में सभा में सम्मिलित हो सकेंगे। स्वामी जी के कुछ उत्साही मद्रासी शिष्यों ने उन्हें हिंदू धर्म के प्रतिनिधि के…

डेंगू होने पर खाएं मेथी के पत्‍ते

डेंगू का बुखार बड़ों के मुकाबले बच्चों में सबसे ज्यादा तेजी से फैलता है। डेंगू होने पर तेज बुखार आता है। इसमें जोड़ों और सिर में तेज दर्द होता है। इसके साथ ही प्लेटलेट्स काउंट बहुत तेजी से गिरता है। अगर प्लेटलेट्स बहुत ही कम हो गया, तो जान…

मोक्ष की धारणा

ओशो गौतम बुद्ध ऐसे हैं जैसे हिमाच्छादित हिमालय। पर्वत तो और भी हैं, हिमाच्छादित पर्वत और भी हैं, पर हिमालय अतुलनीय है। उसकी कोई उपमा नहीं है। हिमालय बस हिमालय जैसा है। गौतम बुद्ध बस गौतम बुद्ध जैसे। पूरी मनुष्य जाति के इतिहास में वैसा…

जेन कहानियां : पेड़ों की दिव्यता

जेन गुरु शिंकान चीन में बौद्ध मत की तेंदई शाखा का वर्षों तक अध्ययन करने के बाद जापान लौटे थे। उनसे मिलने आने वाले उनके सामने अपनी दुर्बोध जिज्ञासाएं रखते, मगर शिंकान कभी-कभार ही किसी एक का जवाब देते। एक दिन एक पचास वर्षीय साधक ने…