पाठकों के पत्र

हिमाचल में एक अनुमान के अनुसार करीब दस लाख युवा बेरोजगार हैं। सभी राजनीतिक दलों का मुख्य लक्ष्य इन युवाओं को रोजगार दिलाना होना चाहिए। अगर देशभर की बात की जाए तो बेरोजगारों का आंकड़ा कई गुणा ज्यादा है। बहरहाल हिमाचल की बात करें तो यहां जल्द ही चुनाव होने वाले हैं। सभी दलों को

झारखंड के दुमका में अंकिता नाम की लडक़ी पर उसके घर पर खिडक़ी से पैट्रोल छिडक़कर शाहरुख नाम के लडक़े ने हत्या कर दी। इससे पहले भी कई जगहों पर ऐसी वारदातें सुनने को मिल रही हैं। कहीं गोली मारी जा रही है तो कहीं जान से मार डालने की धमकियां दी जा रही हैं।

स्वामी विवेकानंद ऐसी शिक्षा चाहते थे जिससे बालक का सर्वांगीण विकास हो सके। हमारे देश में आज भी ऐसे शिक्षकों की कमी नहीं है जो अपने शिष्यों को नैतिकता, इंसानियत का सबक भी पढ़ाते हैं। हमारे देश की सभ्यता-संस्कृति और धार्मिक ग्रंथों में बताया गया है कि गुरु भगवान से भी बढक़र होता है। कबीर

पाकिस्तान में इस वर्ष भयानक बाढ़़ आई हुई है। इस देश का लगभग एक तिहाई हिस्सा बाढ़ की चपेट में आ गया है। 1000 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं और लगभग 3500 लोग लापता बताए जा रहे हैं। सरकार के पास लोगों को बचाने और राहत पहुंचाने के लिए पर्याप्त संसाधन नहीं हैं।

ऐसा लगने लगा है कि अब निजीकरण की नीति गांवों की पंचायती जमीनों तक पहुंचने वाली है। निर्देशों के अनुसार देश की पंचायतों की खाली पड़ी जमीन के प्रबंधन के लिए चयनित कंपनियों को जिम्मेदारी दी जाएगी। अब शासन द्वारा पंचायतों की खाली पड़ी ज़मीन निजी संस्थाओं को लीज पर दी जाएगी। सवाल केवल यह

प्राणी जाति में इंसान सबसे समझदार प्राणी समझा जाता है क्योंकि प्राणी जाति में ही अच्छे और बुरे की पहचान करने की समझ होती है। लेकिन प्राचीन काल से ही बहुत से लोग अपनी अच्छी समझ को दरकिनार करते हुए बुरे काम करते आ रहे हैं। आजकल ऐसी ऐसी खबरें पढऩे और सुनने को मिलती

एक ऐसी पार्टी जिसने इस देश पर लगभग 54 वर्षों तक राज किया, उस पार्टी की हालत ऐसी हो गई है कि इसके कई वरिष्ठ नेता पार्टी छोडक़र जा रहे हैं। कांग्रेस पार्टी के लिए यह एक चिंता की बात है। अभी हाल ही में गुलाम नबी आजाद ने पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा

तिरंगा हमारी आन, बान और शान है। तिरंगे का किसी प्रकार का भी अपमान करना कानून की नजरों में अपराध माना जाता है। तिरंगे की लंबाई-चौड़ाई का अनुपात 3:2 होना चाहिए, केसरिया रंग टॉप में, बीच में सफेद रंग, नीचे हरा रंग हो। तिरंगे को फहराने और उतारने का समय भी निश्चित होता है। यानी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत की जनता से ‘मन की बात’ के जरिए रूबरू हुए। उन्होंने लोगों से पूरे देश का जिक्र किया, लेकिन इस बार की ‘मन की बात’ में पहाड़ों का विशेष रूप से जिक्र किया कि मुझे हिमाचल के एक श्रोता ने बताया कि हम पहाड़ के लोगों की बस्तियां दूर-दूर होती हैं,