स्कूली खेलों को चाहिए धन व सुविधाएं

भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं सभी कक्षाओं के लिए ड्रिल का एक-एक पीरियड रखना पड़ेगा और कक्षा के सभी विद्यार्थियों को अपनी-अपनी शारीरिक क्रियाओं के लिए जहां माकूल जगह चाहिए, वहीं उपकरण तथा विभिन्न खेलों में भागीदारी पर…

सामने आ रही प्रतिभाओं को निखारो

भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं सरकारी नौकरी में लगे खिलाडि़यों को प्रशिक्षण के लिए पूरा समय देना होगा। खिलाड़ी को अभ्यास के लिए समय नहीं मिलेगा, तो उसकी प्रतिभा दम तोड़ती जाएगी। यह सरकार का भी दायित्व बनता है कि वह…

नई संभावनाएं जगाता ओलंपिक खेल मेला

भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं हर वर्ष आयोजित होने वाली खेल प्रतियोगिताएं निचले स्तर पर खेल प्रतिभा खोज का उचित माध्यम हैं। 12 वर्ष बाद ही सही हिमाचल ओलंपिक खेल मेला राज्य में खेलों को एक नई दिशा जरूर देगा। ओलंपिक मशाल…

खेल प्रतिभा खोज में ईमानदारी की दरकार

भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं हिमाचल में आज हर गांव के लिए सड़क तो है, वहां पर दौड़ के अभ्यास का प्रारंभ हो ही सकता है। हिमाचल का युवा अधिकतर सेना व सुरक्षा बलों में अपना भविष्य तलाश रहा है, वहां पर भर्ती होने के लिए…

सुविधाओं से संभलेगी खेल प्रतिभा

भूपिंदर सिंह भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं अच्छा प्रशिक्षक, उत्तम खेल सुविधा तथा अच्छा सहायता वाला खेल वातावरण मिलता है तो खेलों में उत्कृष्ट परिणाम जरूर आते हैं।  खिलाडि़यों को अगर प्रोत्साहन और सरकारी प्रश्रय मिले,…

हैंडबाल को हाथोंहाथ लेता हिमाचल

भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं देखते हैं हिमाचल हैंडबाल को प्रशासन तथा प्रशिक्षण की यह जोड़ी कितनी ऊंचाई तक ले जाती है, जहां इस वर्फ के प्रदेश की संतानें अधिक से अधिक बार तिरंगे को ऊपर उठाने में अपना योगदान देती हैं।…

साई से मिलें कुछ और एक्सटेंशन सेंटर

भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं हिमाचल प्रदेश में और भी ऐसे कई संस्थान हैं, जहां साई एक्सटेंशन सेंटरों की जरूरत है। हिमाचल के सभी सांसद भाजपा के हैं तथा केंद्र में भी भाजपा की सरकार है। इसलिए अपेक्षा रहेगी कि हिमाचल को…

साहसिक खेलों के लिए स्वर्ग है हिमाचल

भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं हिमाचल प्रदेश में वैसे भी करोड़ों सैलानी प्रतिवर्ष यहां आते हैं। साहसिक खेलों के द्वारा सैलानियों को लुभाकर हिमाचल प्रदेश में जहां पर्यटन उद्योग से हजारों को रोजगार मिलेगा, वहीं पर…

सौतेले व्यवहार से कुंद होती प्रतिभा

भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं हिमाचल शिक्षा के क्षेत्र में देश के अग्रणी राज्यों में आता है, तो हमें खेल तथा अन्य युवा गतिविधियों में भी विद्यार्थियों को शिक्षा संस्थान में फलने-फूलने का पूरा-पूरा मौका देकर अच्छे…

नौकरी के नजराने से प्रतिभा का सम्मान

भूपिंदर सिंह भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं बर्फ के प्रदेश की संतानें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तिरंगे को सबसे ऊपर उठाती हैं, तो हर प्रदेशवासी का सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है। अजय ठाकुर को बधाई तथा सरकार से अपेक्षा रहेगी…

एचपीयू में खेलों के लिए सुखद पहल

भूपिंदर सिंह भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं प्रदेश विश्वविद्यालय ने अब अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालय खेल प्रतियोगिताओं में शीर्ष चार स्थानों पर रहने वाली टीमों तथा खिलाडि़यों को भी नकद इनाम से सम्मानित करने का…

अधर में लटका शिलारू खेल परिसर

भूपिंदर सिंह (लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं) सरकार बजट में खेलों के लिए करोड़ों के बजट का प्रावधान करती है और अगर उस पैसे का सही इस्तेमाल हो, तो इस तरह के प्रशिक्षण केंद्र इतने वर्षों तक पूर्ण होने के लिए अधर में न लटके रहते और अब…

खिलाडि़यों को ईनाम और वजीफा दे बजट

भूपिंदर सिंह (लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं) हिमाचल में अगर खेलों को सम्मानजनक स्तर तक ऊपर ले जाना है तो हमें हरियाणा की तरह इनामी राशि पंजाब की तरह खेल संस्थान का प्रबंधन हो तो इस बजट से ही शुरू करना होगा। प्रदेश में अच्छा खेल…

खेल ढांचे की संभाल का बंदोबस्त करे बजट

भूपिंदर सिंह भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं प्रदेश में विभिन्न खेलों के लिए कई अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्ले फील्ड बनकर तैयार हैं। दुखद यह कि उनके रखरखाव के लिए मैदान कर्मचारी तथा चौकीदार ही नहीं हैं। राज्य में बने…

कालेजों में हो खेल विंग के लिए विशेष बजट

भूपिंदर सिंह ( भूपिंदर सिंह लेखक, राष्ट्रीय एथलेटिक प्रशिक्षक हैं ) प्रदेश में महाविद्यालय स्तर की खेलों के लिए सरकार कोई धन नहीं देती है। ये खेल विद्यार्थियों से मिले खुले शुल्क से ही चलाए जाते हैं, जबकि राज्य के अस्सी प्रतिशत 18 से 25…