अपनी माटी

मंड और पांवटा में गन्ने की बिजाई जोरों पर, ट्रैक्टर में मशीन लगाकर तैयार किए जा रहे खेत गन्ने की फसल साल में दो बार होती है। इन दिनों भी गन्ने को निकालने के बाद बीजने का दौर है। तकनीक के जमाने में गन्ने को बीजने का स्टाइल भी बदल गया है। एक खबर… गन्ने

कृषि विश्वविद्यालय ने शुरू किया बड़ा एक्सपैरिमेंट ज्यादातर पशुपालक चाहते हैं कि उनकी गाय बछड़ी पैदा करे, ताकि भविष्य में उन्हें दूध देने वाला पशु मिले। इस दिशा में समय-समय पर प्रयास भी हुए हैं, लेकिन इन दिनों कृषि विश्वविद्यालय बड़ा प्रयोग कर रहा है। एक खबर… पालमपुर विश्वविद्यालय में गाय को लेकर बड़ा एक्सपैरिमेंट

हिमाचल के चार जिलों में पैदा होने वाले लाल धान ने पहाड़ की खेती को हमेशा बुलंद किया है। विशेष किस्म का यह चावल औषधीय गुणों से भरपूर है। इसी कारण अब यह धान नया मुकाम हासिल करने वाला है … * जीआई टैग दिलाने के लिए कसरत तेज, साढ़े चार सौ से लेकर पांच

इन दिनों घास की दो किस्मों की बड़ी डिमांड है। ये किस्में हैं लेमन और पामारोसा ग्रास। इसके अलावा भी कई ऐसे घास हैं, जिन्हें किसान लगा सकते हैं। पढि़ए यह खबर… पामारोसा घास लगाएं किसान भाई, एक हेक्टेयर से कमा सकते हैं डेढ़ लाख मुनाफा अपनी माटी के पास प्रदेश भर से किसानों ने

हिमाचल में फसल बीमा योजना को लेकर किसानों के मन में खूब सवाल उठते हैं। इन्हीं सवालों में से एक अहम जवाब विधानसभा सत्र के दौरान मिला है। पढि़ए यह खबर मौसम आधारित फसल बीमा का सवा चार लाख को मिला लाभ हिमाचल में मौसम आधारित फसल बीमा का लाभ अब तक सवा चार लाख

हिमाचल में पहली बार होगा नया प्रयास, मार्केटिंग के लिए भी होंगे प्रयास अपनी माटी की मुहिम पर प्रदेश सरकार का बड़ा कदम, बागबानों को मिलेगी राहत हिमाचल में फ्लोरीकल्चर से जुड़े किसानों के लिए खुशी की खबर है। प्रदेश सरकार ने राज्य में फूल उत्पादन को बढ़ावा देने की दिशा में कदम उठाए हैं

किसान क्रेडिट कार्ड मौजूदा समय में किसान भाइयों के लिए बेहद फायदेमंद है। प्रदेश के कई किसान ऐसे हैं, जिन्हें इस कार्ड को बनाने की जानकारी नहीं है। ऐसे किसानों की मदद के लिए अपनी माटी टीम ने केसीसी बैंक बगली शाखा के मैनेजर सुयेश शर्मा से बात की। सुयेश ने किसानों को आसान शब्दों

क्लस्टर बनाकर खेती करने वाले किसानों को मार्केट भी मिलेगी औषधीय पौधे उगाने वाले किसानों के लिए राहत भरा समाचार है। इन किसानों को अब अपनी पैदावार बेचने के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। इन्हें मार्केट भी मुहैया करवाई जाएगी। पढि़ए बिलासपुर से यह खबर… बिलासपुर जिला में ऐसे सैकड़ों किसान हैं, जो आयुर्वेद विभाग के