Browsing Category

अपनी माटी

पहले मंडियों का पल पल रेट परखें फिर खेत से ही बेच दें फसल

हिमाचल में किसानों को अकसर यह शिकायत रहती है कि मंडियों में उन्हें रेट नहीं मिलता। या फिर मंडी दूर होने से टाइम बर्बाद हो जाता है। तो अपनी माटी में हाजिर है वह समाचार,जो किसी न किसी तरह प्रदेश के 10 लाख किसानों से जुड़ा हुआ है। इसके लिए…

पच्छाद में दूध की सूखी नदियां मांग रहीं हिसाब

हिमाचल में धर्मशाला और पच्छाद विधानसभा हलकों के लिए उपचुनाव हो रहा है। दोनों ही विधानसभा क्षेत्र किसान बहुल हैं । खासकर पच्छाद के तो 113 बूथों में 110 ग्रामीण हैं। पच्छाद हिमाचल के पहले मुख्यमंत्री डा वाईएस परमार का गृहक्षेत्र भी है। डा.…

हरड़-बेहड़ा और गुच्छी बचाने के लिए छिड़ी मुहीम

आपने अकसर लोगों को हरड़-बेहड़ा और आंवला की खूबियां गिनाते सुना होगा, लेकिन क्या आपको पता है ये औषधीय पेड़-पौधे व फसलें धीरे-धीरे लुप्त होते जा रहे हैं। हम आपके लिए यह खास खबर लाए हैं, जिसमें दिव्य हिमाचल बताएगा कि कैसे किन- किन …

प्रदेश में अपग्रेड होंगी 14 सब्जी मंडियां

फल सब्जी उगाकर हिमाचल की इकोनॉमी को चलाने वाले लाखों किसानों के लिए लंबे समय बाद उम्मीदों भरी खबर है। हिमाचल मार्केटिंग बोर्ड 35 करोड़ की लागत से जल्द दो नई सब्जी मंडियां खोलने वाला है,जबकि 14 अन्य मंडियों को अपग्रेड करने की योजना पर तेजी…

लावारिस पशुओं ने कितने मारे जयराम सरकार को नहीं पता

विधानसभा का मानसून सत्र भले ही विधायकों के बढ़े हुए यात्रा भत्ते के लिए चर्चित रहा हो, लेकिन किसान भाइयों के लिए भी इसमें काफी कुछ जानने योग्य रहा। ये वे सूचनाएं हैं, जो यात्रा भत्ते के बवाल में दब गईं। विधानसभा में सबसे बड़ी जानकारी…

हजार हेक्टेयर पर महकते फूलों में नोटों की खुशबू 

मौजूदा समय में पांच सौ हैक्टेयर से अधिक क्षेत्र में मैरीगोल्ड की खेती की जा रही है। वहीं ग्लैड सौ हैक्टेयर में महक रहा है। सिरमौर के बाद कांगड़ा, सोलन, बिलासपुर और चंबा में भी लोग फूलों की खेती को अपना रहे हैं... कभी…

ठियोग रामपुर और रोहड़ू के बागीचों के फंसा करोड़ों का सेब

बेलगाम बरसात ने सेब सीजन पर सबसे तगड़ा प्रहार किया है। अपनी माटी के लिए शिमला से हमारे सहयोगी शकील कुरैशी और ठियोग से रोहित सेम्टा ने अपर शिमला के हालात जाने। पता चला कि ठियोग, रोहड़ू और रामपुर में सैकड़ों छोटी बड़ी सड़कें बंद पड़ी…

मोदी और किसानों की दोस्ती में दरार

कइयों को 4 हजार, तो कइयों को अंडा लोकसभा चुनावों से पहले पिछली मोदी सरकार ने किसान सम्मान निधि योजना लागू की थी। इस योजना के तहत एक बिस्वा से लेकर सैकड़ों बिस्वा के मालिक किसान को साल में 6 हजार रुपए दिए जाने हैं। चुनावों से पहले मोदी…

कटहल-नींबू और गरने का क्रेज

बरसात के मौसम में समूचे देश में पौधे रोपे जा रहे हैं। लेकिन हिमाचली इस मामले में औरों से डिफरेंट हैं। वे यूं ही हर कुछ नहीं रोपते। वे पौधों को परखते हैं, उनका भविष्य देखते हैं,उसके बाद ही बूटे को अपनी बगिया में जगह…

हिमाचल सरकार लेगी आठ रुपए किलो सेब

राज्य सरकार ने इस वर्ष के दौरान राज्य में सेब की खरीद के लिए मंडी मध्यस्थता योजना यानी एमआईएस को लागू करने की स्वीकृति प्रदान कर दी है। इस योजना को 20 जुलाई से 31 अक्तूबर तक लागू किया जाएगा। इस योजना के तहत लगभग 1.48 लाख मीट्रिक टन सेब…

बागबानों को किराए पर ट्रैक्टर और आरियां

हिमाचल में सेब सीजन जोरों पर है। आढ़तियों से लेकर क्लेक्शन सेंटरों तक जयराम सरकार की पैनी नजर है। सरकार अब बागबानों को एक और बड़ा तोहफा देने जा रही है। अपनी माटी के लिए शिमला से हमारे विशेष संवाददाता शकील कुरैशी ने महेंद्र सिंह से…

सीएम का किसानों से प्रोमिस खेतों के बिकवा दूंगा सारी फसल

हिमाचल के 10 लाख किसानों के लिए उम्मीदों भरा समाचार है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि प्रदेश सरकार फसलों को मंडियों तक ले जाने का इंतजाम खुद करने जा रही है। जिन स्थानों पर ऐसा नहीं हो पाएगा, वहां खेत में ही साग-सब्जी को बिकवा दिया…

किसानों के पीछे 200 किस्म के कीड़े

हिमाचल में धान की 80 फीसदी खेती पानी पर निर्भर रहती हैं। करीब 6 माह तक हिमाचली किसान पानी या फिर कीचड़ सने खेतों में काम करता है। ...लेकिन यह पहाड़ी प्रदेश के किसानों का दुर्भाग्य ही कहा जाएगा कि बरसात के दिनों में काम के दौरान हिमाचल सरकार…

सेब से पहले पलम का तहलका

सेब सीजन से पहले हिमाचल में प्लम ने तहलका मचा दिया है। आलम यह है कि शिमला की भट्टाकुफर फल मंडी में ही प्लम 100 रुपए किलो बिक रहा है। अपनी माटी के लिए ठियोग से हमारे कार्यालय संवाददाता रोहित सेम्टा ने भट्टाकुफर मार्केट का दौरा…

एक्सपर्ट की सलाह, डरें नहीं, खूब खाएं लीची

जानलेवा बीमारी से वहां कई बच्चों की मौत हो चुकी है। हर ओर भ्रम फैलाया जा रहा था कि लीची के कारण यह बीमारी फैली। यही वजह है कि इस सबका असर हिमाचल में लीची के कारोबार पर पड़ा है। असर इतना बुरा हुआ है कि हिमाचल में इस सीजन में लीची का कारोबार…