Browsing Category

अपनी माटी

चाय से बनी वाइन, हार्ट अटैक रोकने में मददगार

पालमपुर आईएचबीटी के वैज्ञानिकों ने किया कमाल कांगड़ा चाय की खुशबू से दुनिया वाकिफ है, लेकिन इस बार कांगड़ा चाय ने नया मुकाम छू लिया है। पालमपुर में आईएचबीटी के वैज्ञानिकों ने कांगड़ा चाय से वाइन तैयार कर दी है। यह ऐसी वाइन है,जो हार्ट अटैक…

देश में पहली बार होगी हींग की खेती

अगले साल तक मिलेगा किसानों को बीज, सीएसआईआर पालमपुर में चल रही बड़ी रिसर्च क्या आपको पता है दुनिया में सबसे ज्यादा हींग की खपत भारत में होती है। जी हां, देश में सालाना 1145 टन हींग यूज होता है, जिसकी कीमत 70 मिलियन डालर है। यानी भारत में…

हिमाचल का दुनिया को पोमेटो चैलेंज, कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने हरियाणा में उगी फसल को बताया…

आलू के पौधों पर कलम करके पोमेटो तैयार किया जाता है, जिसमें जमीन के ऊपर टमाटर और नीचे आलू उगते हैं। पोमेटो को हिमाचल एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने तैयार किया है, जिसपर अभी यह शोध चल रहा है कि यह किसानों के लिए कितना फायदेमंद है,…

जैविक पर भारी जीरो बजट खेती

देश के पहले केंद्र पालमपुर में रिसर्च से खुलासा प्राकृतिक खेती हर लिहाज से फायदेमंद है। कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर में खेती की विभिन्न तकनीकों पर हुए शोध के दौरान यह खुलासा हुआ है। समूचे देश में प्राकृतिक खेती पर शोध का एकमात्र केंद्र…

अपने दम पर इनकम डबल करने वालों को सलाम

सरकार से पहले टारगेट छूकर हिमाचल में रोल मॉडल बने 500 परिवार हिमाचल सरकार ने साल 2022 में किसानों की आय दोगुनी करने का टारगेट रखा है, लेकिन यह कम लोगों को ही पता है कि कांगड़ा जिला की धरेड़ पंचायत के 500 परिवारों ने यह कारनामा अभी कर…

हिमाचली किसान उगाएंगे प्याज की दो फसलें

खरीफ सीजन में फसल उगाने पर दिया जा रहा जोर देश भर में प्याज दाम 100 रुपए किलो पार पहुंचने से मचे बवाल का तोड़ हिमाचली किसानों के हाथ है। प्रदेश में इस बार प्याज की पनीरी को बड़े स्तर पर रोपा जा रहा है। इसके अलावा मार्च-अप्रैल माह में भी…

कांटेदार तारों से महफूज रहेंगे खेत, किसान भाई करें अप्लाई

80 से 85 प्रतिशत तक की सबसिडी के साथ फार्मर नई सोलर फेंसिंग व कांटेदार तार के लिए आवेदन कर सकते हैं। प्रदेश सरकार ने किसानों की सुविधा के लिए मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना में बदलाव किया है... हिमाचल में अब कांटेदार तार किसानों की फसलों को…

हिमपात के बाद: सेब के लिए संजीवनी बनी बर्फ

बागबानों को समय से पहले चिलिंग आवर्ज पूरा होने की उम्मीद हिमाचल में सीजन के पहले बड़े हिमपात ने बागबानों को बाग बाग कर दिया है। शिमला,किन्नौर, सिरमौर, मंडी-कुल्लू और चंबा में ताजा बर्फबारी ने संजीवनी का काम किया है। बागबानों को उम्मीद हैं…

हिमाचल में धड़ाधड़ लगेंगे किसान मेले, बिलासपुर से होगा आगाज

कृषि मंत्री रामलाल मार्कंडेय हिमाचल में जल्द ही धड़ाधड़ किसान मेले लगने जा रहे हैं। इन किसान मेलों में फार्मर्ज खुद द्वारा तैयार नई फसलों को प्रदर्शित कर पाएंगे। कृषि मंत्री रामलाल मार्कंडेय ने कहा है कि जिनके फल-सब्जियां बेहतर आंके…

एक बंदर  पकड़ने पर मिलेंगे हजार रुपए, लोगों को ट्रेनिंग देगी जयराम सरकार, वन मंत्री ने दिए निर्देश

हिमाचल में एक बंदर पकड़ने पर अब एक हजार रुपए दिए जाएंगे। बंदरों को काबू करने के लिए प्रदेश की जयराम सरकार लोगों को बाकायदा टे्रनिंग भी दिलवाएगी। वन मंत्री गोविंद ठाकुर ने कहा है कि मौजूदा समय में एक बंदर पकड़ने पर एक हजार रुपए दिए जाते हैं,…

रंगड़ बने शिकारी और किसान शिकार

हिमाचल में रंगड़ किसानों के सबसे बड़े दुश्मन बन गए हैं। इस साल रंगड़ों के विषैले डंक से अब तक 11 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। प्रदेश में सालाना 25 लोग रंगड़ों का शिकार बनते हैं, जबकि सैकड़ों जीवन भर के लिए असहाय हो जाते हैं। खास बात यह कि…

हिमाचल के लिए आलू की नई किस्म

सीपीआरआई की कुफरी करण वैरायटी से मालामाल होंगे किसान, बेहतर साइज, रोगमुक्त और गजब का है स्वाद मैदानी राज्यों के लिए दो अलग वैरायटी भी उतारी , प्रदेश के लाखों फार्मर्ज को होगा फायदा हिमाचल में आलू बीजने वाले किसानों के लिए राहत भरी…

हिमाचल में खुलेगी वैटरिनरी यूनिवर्सिटी, जयराम सरकार ने दिए संकेत

हिमाचल में लगभग हर परिवार पशुपालन से किसी न किसी तरह जुड़ा हुआ है। कोई व्यवसाय के लिए, तो कोई शौक के लिए पशु पालता है। लोगों की इसी जरूरत को भांपकर प्रदेश की जयराम सरकार यहां वैटरिनरी यूनिवर्सिटी अलग से खोलने की सोच रही है। अगर ऐसा…

किसान सम्मान के 2-2 हजार नहीं मिले तो यह उपाय करें

मोदी सरकार ने किसानों की आय में बढ़ोतरी के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम शुरू की है, लेकिन हिमाचल में ऐसे कई किसान हैं,जिन्हें आगे की किस्तें नहीं मिल पा रही हैं। अगर आपको किस्त नहीं मिली है,तो फिक्र न करें। हम आपको बताएंगे कि…

आस्ट्रेलिया खाएगा हिमाचल का देसी आम, सैंसोवाल सहकारी सभा से एमओयू साइन

हिमाचल में मुख्यतः चौसा, लंगड़ा, दशहरी व पुराना देसी आम पाया जाता है। आम की सालाना 23 हजार मीट्रिक टन से ज्यादा पैदावार होती है। कुल 38 हजार हेक्टेयर पर मैंगों प्रोडक्शन होती है... भले ही हिमाचल में देसी आम की कद्र न हो, लेकिन आस्ट्रेलिया…