himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

ध्यान में आसन सहज होना चाहिए

सफलता का दूसरा नाम ही सिद्धि है। भारतीय मनोविज्ञान में ध्यान को चित्त की वृत्तियों के निरोध का सबसे अधिक महत्त्वपूर्ण साधन माना गया है। मन की अवस्थाएं दो प्रकार की होती हैं-गत्यात्मक व स्थिर। गत्यात्मकावस्था में मन चंचल होता है। स्थिर…

जहरीले स्मॉग से बचने के उपाय

स्मॉग की वजह से सांस लेने में तकलीफ  तो होती ही है, साथ ही साथ इसकी वजह से अस्थमा, एम्फीसिमा, क्रॉनिक ब्रोंकाइटिस और अन्य श्वास संबंधी समस्याएं अपनी गिरफ्त में ले लेती हैं... आज देश की राजधानी दिल्ली स्मॉग के कहर से जूझ रही है। भयंकर धुंध…

पुष्पक विमान है बड़ा आध्यात्मिक आश्चर्य

विमान पर अति-सुंदर मुख एवं पंख वाले अनेक विहंगम चित्र बने थे, जो एकदम कामदेव के सहायक जान पड़ते थे। यहां गजों की सज्जा मूंगे और स्वर्ण निर्मित फूलों से युक्त थी तथा उन्होंने अपने पंखों को समेट रखा था, जो देवी लक्ष्मी का अभिषेक करते हुए से…

पीपल के गुणकारी लाभ

पवित्र पीपल वृक्ष को मानवता की सभ्यता के अनंतकाल से ही हिंदुओं द्वारा पूजा जाता है, लेकिन पीपल वृक्ष धार्मिक मान्यता के अलावा औषधीय गुणों से भरपूर है तथा अनेक असहाय मानी जाने वाली बीमारियों का पीपल के उपयोग से स्थायी उपचार किया जा सकता है।…

श्री विश्वकर्मा पुराण

सूतजी बोले, हे ऋषियों! इस प्रकार से अनेक कर्म बंधनों में फंसी हई जीवात्मा जिस प्रकार कर्म बंधन से मुक्त होकर कैवल्यरूपी मोक्ष को प्राप्त कर सकती है, वह मैंने तुमको कह सुनाया। योगी पुरुष प्रभु के इस कैवल्यपद को प्राप्त करने के लिए कितने ही…

क्यों ‌होता है कमर दर्द

हमारी दिनचर्या में आधुनिकीकरण इतना हावी हो गया  है कि युवा वर्ग भी इससे अछूता नहीं है, लेकिन प्रायः बढ़ती उम्र और औरतों के साथ यह समस्या ज्यादा देखने को मिलती है। यह ऐसी समस्या है जो लंबे समय तक बनी रहती है और इससे पूरी तरह से छुटकारा पाना…

दादी मां के नुस्खे

* हृदय रोग की रोकथाम के लिए 40 ग्राम आंवले के रस में 20 ग्राम गाजर का रस मिलाकर पीना चाहिए। इससे बीपी कंट्रोल किया जा सकता है। * गुनगुना पानी पीकर गैस और कब्ज को अलविदा कहा जा सकता है। इससे भूख बढ़ती है। शरीर से हानिकारक टॉक्सिंज पदार्थ…

ये हैं दुनिया के अजब-गजब कानून

एरिज के सिडोना में हस्तरेखा देख कर झूठ बोलना गैरकानूनी है। टेक्सास में खाली बंदूक दिखाकर किसी को धमकी देना गैरकानूनी है। ऑस्ट्रेलिया में उस जानवर का नाम लेना गैरकानूनी कृत्य है, जब आप उसे खाना चाहते हैं। पुर्तगाल में समुद्र में पेशाब करना…

आयुर्वेद में दूध का स‌ही इस्तेमाल

दूध में पर्याप्त मात्रा में विटामिन, कैल्शियम, प्रोटीन, फास्फोरस और पोटाशियम जैसे तत्त्व पाए जाते हैं। इनसे बॉडी को कई तरह के हैल्थ बेनिफिट्स मिलते हैं। लेकिन अगर आयुर्वेद में दिए गए नियमों के अनुसार दूध को अलग-अलग चीजों के साथ पीते हैं, तो…

मृत्यु होने पर वैर भी समाप्त हो जाता है

यह कहावत शत-प्रतिशत सत्य है कि यदि किसी देश को नष्ट करना हो, तो उसकी संस्कृति को नष्ट कर दो, देश स्वयं नष्ट हो जाएगा। भारतवर्ष में जब तक वैदिक संस्कृति आचरण में रही तो पिछले युगों में यह देश पूरी पृथ्वी पर राज्य करता था, सुख संपदा, शांति…

बाबा बजरोट मंदिर

धार्मिक आस्था एवं विश्वास के रूप में 64 योगिनियों तथा 84 सिद्धों की पूजा विशेष रूप में की जाती है। अपने तपोबल के कारण यह सिद्धगण हिमाचल के विभिन्न क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करते हैं तथा लोग इन सिद्धगणों को हजारों वर्षों से पूजते आ रहे हैं।…

साढ़ेसाती को शमित करती है शनि अमावस्या

किसी माह के जिस शनिवार को अमावस्या पड़ती है, उसी दिन शनि अमावस्या मनाई जाती है। यह पितृकार्येषु अमावस्या और शनिचरी अमावस्या के रूप में भी जानी जाती है। कालसर्प योग, ढैया तथा साढ़ेसाती सहित शनि संबंधी अनेक बाधाओं से मुक्ति पाने के लिए शनि…

दशरथ कृत शनि स्तोत्र

नमः कृष्णाय नीलाय शितिकंठनिभाय च। नमः कालाग्निरूपाय कृतांताय च वै नमः।। 1।। नमो निर्मांस देहाय दीर्घश्मश्रुजटाय च । नमो विशालनेत्राय शुष्कोदर भयाकृते।। 2।। नमः पुष्कलगात्राय स्थूलरोम्णेऽथ वै नमः। नमो दीर्घायशुष्काय कालद्रष्टा नमोऽस्तुते।।…

स्वर्ग, नरक और भूलोक-रहस्य तीन लोकों का

तीन लोक कौन से हैं? यह संसार, जिसे भौतिक वास्तविकता भी कहा जाता है, पांच तत्त्वों का मिश्रण है। फिर भी जब किसी प्राणी के लिए इन पांच तत्त्वों का खेल खत्म हो जाता है, तब भी यह जीवन चलता रहता है। मरने के बाद भी जो जीवन चलता रहता है, उसे दो…

प्रम्बानन मंदिर

भगवान शिव के मंदिर दुनियाभर में मौजूद हैं, जहां भगवान शिव के साथ-साथ कई देवी-देवताओं को अलग-अलग नामों से पूजा जाता है। भगवान शिव का ऐसा ही एक बहुत सुंदर और प्राचीन मंदिर इंडोनेशिया के जावा में है। 10वीं शताब्दी में बना भगवान शिव का यह मंदिर…
?>