श्री विश्वकर्मा पुराण

उस उपदेश को तू निरंतर रटता  हुआ प्रभु की तन्मयता का अनुभव करेगा, तब थोड़े समय में ही तुझको उनके स्वरूप का ज्ञान प्राप्त होगा और उन कृपालु भगवान के तू दर्शन कर सकेगा। प्रभु के आकार स्वरूप के दर्शन पाकर उनके स्वरूप को भी प्राप्त कर सकेगा। इस…

जानें क्या है डिटॉक्स ड्रिंक

आजकल हमारी जीवनशैली कुछ ऐसी हो गई है कि लोग अकसर वजन बढ़ने की शिकायत करते हैं। आफिस में सीट पर लगातार बैठे रहने, जंक फूड के सेवन इत्यादि से वजन बढ़ने की मुश्किलें पैदा होती हैं। वहीं दूसरी ओर अतिरिक्त परेशानी का सबब बनकर आया है गर्मी का…

आकांक्षा और सफलता

श्रीराम शर्मा कई बार सुयोग्य और पुरुषार्थी व्यक्ति परिस्थितिवश असफल होते देखे गए हैं। हर प्रयत्नशील को सफलता मिलनी ही चाहिए, इसकी कोई गारंटी नहीं। शारीरिक श्रम, मानसिक लगन और सांसारिक परिस्थितियों के समन्वय से ही सफलता सामने आती है...…

भगवान का कोई नाम नहीं होता

गुरुओं, अवतारों, पैगंबरों, ऐतिहासिक पात्रों तथा कांगड़ा ब्राइड जैसे कलात्मक चित्रों के रचयिता सोभा सिंह पर लेखक डॉ. कुलवंत सिंह खोखर द्वारा लिखी किताब ‘सोल एंड प्रिंसिपल्स’ कई सामाजिक पहलुओं को उद्घाटित करती है। अंग्रेजी में लिखी इस किताब…

अनमोल वचन

* उस व्यक्ति ने अमरत्व प्राप्त कर लिया, जो किसी सांसारिक वस्तु से व्याकुल नहीं होता * व्यक्ति अपने कार्यों से महान होता है, अपने जन्म से नहीं * जीवन ठहराव और गति के बीच का संतुलन है * कामयाबी और नाकामयाबी दोनों जिंदगी के हिस्से हैं,…

ये हैं महाभारत से जुड़े रहस्य

मोहनजोदड़ो में कुछ ऐसे कंकाल मिले थे जिनमें रेडिएशन का असर था। महाभारत में सौप्तिक पर्व के अध्याय 13 से 15 तक ब्रह्मास्त्र के परिणाम दिए गए हैं। हिंदू इतिहास के जानकारों के मुताबिक 3 नवंबर 5561 ईसा पूर्व छोड़ा हुआ ब्रह्मास्त्र परमाणु बम ही…

डेंगू बुखार के घरेलू उपाय

डेंगू एक वायरस जनित रोग है, जो एडिज मच्छर के काटने से होता है। यह मच्छर साफ पानी में पनपता है जो दिन के समय काटता है। इस मच्छर के काटने पर 3 से 14 दिनों में इसके लक्षण दिखने लगते हैं। डेंगू रोग की तीन अवस्थाएं होती हैं। पहली क्लासिकल जिसमें…

 अंजनि का वानरी रूप

एक बार देवराज इंद्र की सभा स्वर्ग में लगी हुई थी। इसमें दुर्वासा ऋषि भी थे। जिस समय सभा में विचार-विमर्श चल रहा था, उसी समय सभा के मध्य ही पुंजिकस्थली नामक इंद्रलोक की अप्सरा बार-बार इधर-उधर घूम रही थी। सभा के मध्य पुंजिकस्थली का यह आचरण…

महामृत्युंजय का व्यापक महत्त्व

कैंसर व हार्ट अटैक जैसी बीमारी को दूर करने के लिए सर्वप्रथम लघुरुद्र या नाम-चमक रुद्राभिषेक करके अक्षीभ्यां जल द्वारा शिव निर्मालय से रोगी को मार्जन करें। उसका कुछ जल रोगी को पिलाएं। इससे कैंसर आदि रोग भगवान की कृपा से दूर हो जाते हैं तथा…

जानें क्यों सरस्वती के हाथों में वीणा होती है

जब वीणा को बजाया जाता है, उसमें से निकलने वाली धुन चारों ओर फैले अज्ञान के अंधकार का नाश करती है। माना जाता है कि वीणा की गर्दन के भाग में महादेव, इसकी तार में पार्वती, पुल पर लक्ष्मी,  सिरे पर विष्णु और अन्य सभी स्थानों पर सरस्वती का वास…

ये हैं भारत के सबसे बड़े दस अनसुलझे सवाल

दिल्ली में कुतुबमीनार के पास ही सैकड़ों साल से अशोक की लाट शान से खड़ी है और आज तक इस पर जंग भी नहीं लगा है। कई देशों के वैज्ञानिकों ने इस पर अनेक बार अध्ययन किया है, लेकिन आज तक कोई इसका रहस्य नहीं जान पाया... -गतांक से आगे... येती…

तोंद कम करने के टिप्स

कपड़ों से झांकती तोंद भला किसे अच्छी लगती है। हर महिला इससे छुटकारा पाना चाहती है। हर महिला फिट और स्लिम रहना चाहती है। वह ऐसा फिगर चाहती है, जिसे किसी भी तरह के कपड़ों से कोई भी समस्या न हो। पर कई बार हमारे खान-पान और व्यस्त दिनचर्या के…

श्री स्वस्थानी माता

गरली के निकटवर्ती तहसील कार्यालय रक्कड़ स्थित पंचपीरी नामक स्थान पर मां श्री स्वस्थानी का भव्य मंदिर अब किसी पहचान का मोहताज नहीं है। कहा जाता है कि मां श्री स्वस्थानी का भव्य आलीशान मंदिर एशिया का पहला ऐसा स्थान है, जहां हिमाचल के…

वैराग्य और उत्सव

श्रीश्री रवि शंकर कोई भी उत्सव तभी वास्तविक हो सकता हैं जब दिल मे वैराग्य का भाव हो। जब मन भीतर की ओर मुड़कर उस अनंत और कभी नहीं बदलने वाले स्वरूप की ओर चला हैं और जब आप अपने भीतर के गहन में उस अनंत को देखते हैं, तो फिर जन्म और मृत्यु का…

परिवार  संस्था और उसका महत्त्व

विश्व परिवार दिवस 15 मई पर विशेष वर्तमान संक्रमण काल के बाद विविध परिस्थितियों में परिवार संस्था पुनर्गठित होकर मानव के उत्कर्ष में अपना योगदान जारी रखेगी। वस्तुतः मानवीय जीवन में जो कुछ भी आनंदमय, रसपूर्ण, साथ ही कर्त्तव्य और धर्म का…