भीड़ ने रौंदा पर्यटन

हिमाचल में साल-दर-साल सैलानियों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। इस बार तो यह दो करोड़ को भी पार कर सकता है, लेकिन प्रदेश में आने वाले सैलानियों को क्या सुविधाएं मिलती हैं और उन्हें किन-किन दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है व पर्यटकों के लिए…

बरसात को कितना तैयार हिमाचल

प्रदेश में हर साल बरसात कहर बनकर  टूट पड़ती है। मूसलाधार बारिश-बादल फटने के अलावा भू-स्खलन से भी जान-माल का नुकसान होता है। बरसात से पहले हर बार प्रशासन तैयारियां करता है, लेकिन कुदरत के आगे सारे इंतजाम धराशायी हो जाते हैं। अभी बरसात सिर पर…

माफिया के खिलाफ कितना तैयार हिमाचल

शांत देवभूमि में दिन-ब-दिन अपराध फन फैला रहा है। प्रदेश में माफिया इतना हावी होने लगा है कि कर्मचारियों की जान पर बन आई है। अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि अब वे कभी भी किसी भी कर्मचारी या अफसर पर हमला करने से नहीं चूकते। माफिया से…

शिमला की हकीकत

महज 25 हजार की आबादी के लिए बसाए गए शिमला शहर में आज दो लाख के करीब जनता गुजर-बसर कर रही है। आबादी जिस रफ्तार से बढ़ी, उसी रफ्तार से  निगम शहर का विकास नहीं कर पाया, नतीजतन आए दिन लोगों को बुनियादी सुविधाओं के लिए जूझना पड़ रहा है...…

पर्यटन सीजन में हिमाचल जाम

सैलानी हिमाचल की खूबसूरत छटाओं के दीदार के लिए बड़े उत्साह से यहां पहुचते हैं, लेकिन जब उनका सामना ट्रैफिक जाम से होता है, तो सारा उत्साह काफूर हो जाता है... पहाड़ी राज्य हिमाचल की सड़कें वाहनों के बोझ से इन दिनों पूरी तरह से हांफ रही हैं।…

हिमाचली मौसम सिखा देगा सारा खेल

मौसम माकूल, मगर सुविधाओं का टोटा हिमालय के आंचल में बसा हिमाचल अपने प्राकृतिक सौंदर्य के लिए विश्व विख्यात है। यहां की जलवायु हर खेल के लिए माकूल है। यहां के मौसम पर फिदा हो कर हर साल यहां कई नेशनल कैंप लगाए जाते हैं, लेकिन हिमाचल अपनी ही…

हिमाचली आंचल में प्रवासी बस्तियां

काम की तलाश में बाहरी राज्यों से आए प्रवासी कामगारों ने हिमाचली शहरों में झुग्गियां जमा लीं। शहर के बीचोंबीच या सड़क किनारे बसी इनकी बस्तियां पहाड़ी राज्य की प्राकृतिक सुंदरता पर ग्रहण लगा रही है। प्रवासियों की हिमाचल आमद श्रम के नजरिए से…

सियासत की धर्मशाला

स्मार्ट सिटी धर्मशाला का समूचा विकास महज राजनीतिक कारणों के चलते ही हुआ है। यह सियासत ही थी कि कभी यहां हिमाचल भवन बना तो कभी कोई क्षेत्रीय कार्यालय। कभी विधानसभा परिसर अस्तित्व में आया तो कभी मिनी सचिवालय की इमारत बुलंद हुई। दूसरी राजधानी…

शराबी होता हिमाचल

गांवों में खोले जा रहे शराब ठेकों के खिलाफ महिलाओं ने आवाज बुलंद कर दी है, वहीं सरकार की आमदनी का बड़ा हिस्सा शराब के कारोबार से ही आता है ,लिहाजा प्रदेश सरकार शराब को बैन भी नहीं कर सकती और लोगों के विरोध को अनदेखा भी नहीं किया जा सकता..…

रैली के बहाने मोदी के निशाने

उत्तराखंड व यूपी चुनाव में मोदी मैजिक ने विपक्षी दलों को धूल चटा दी है। इसके बाद दिल्ली एमसीडी चुनाव में भी भाजपा ने बहुमत हासिल कर संकेत दिए हैं कि अब भाजपा का विजय रथ थमने वाला नहीं। इसी साल हिमाचल में होने वाले चुनावों को देखते हुए पीएम…

रैंकिंग परीक्षा में हिमाचली संस्थान फेल

बंगलूर ओवरआल नंबर-1 नेशनल इंस्टीच्यूट रैंकिंग फ्रेमवर्क में हिमाचल के संस्थान फिसड्डी ही साबित हुए। प्रदेश के इन संस्थानों में किस तरह का शोध हो रहा है, इसी विषय की तफतीश करता इस बार का दखल.... देश के टॉप 100 उच्च शिक्षण संस्थानों में…

रैंकिंग परीक्षा में हिमाचली संस्थान फेल

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के दावे करने वाले हिमाचल प्रदेश के नामी शिक्षण संस्थान एमएचआरडी के नेशनल इंस्टीच्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क के मानकों पर पूरी तरह खरे नहीं उतर सके। पांच कैटेगरी की मूल्यांकन परीक्षा में प्रदेश के 130 से ज्यादा शिक्षण…

कितना स्मार्ट शिमला

शिमला यानी पहाड़ों की रानी, जिसकी प्राकृतिक खूबसूरती हर किसी को बरबस ही अपनी ओर चुंबक की तरह आकर्षित कर लेती है। शहर में हर रोज सैकड़ों सैलानी पहुंचते हैं, लेकिन सुविधाओं के लिहाज से कितना स्मार्ट है शिमला, इसी की तफतीश करता इस बार का दखल…

शिक्षा की राजधानी हमीरपुर

हिमाचल प्रदेश का हमीरपुर जिला एजुकेशन हब के तौर पर उभरा है। जिला के शिक्षण संस्थान छात्रों के अलावा अभिभावकों की भी पहली पसंद  हैं। इस बार दखल के जरिए जानें... सबसे छोटे जिलामें शिक्षा के क्षेत्र में कैसे आई क्रांति.... एनआईटी और हिम…

आधुनिक करवटों का शहर सोलन

पहली सितंबर, 1972 को अस्तित्व में आए जिला का सोलन शहर दिन दोगुनी रात चौगुनी तरक्की कर रहा है। शहर ने हर क्षेत्र में सफलता के लंबे डग भरे हैं। शहर के विकास की कहानी दखल के जरिए बता रहे हैं सोलन के ब्यूरो चीफ मुकेश कुमार... बीते 20 वर्षों…