तपोवन में क्‍या खोया-क्‍या पाया

हिमाचल के नेताओं ने जब केद्र के बड़े प्रोजेक्टों पर चर्चा न की तो बेरोजगारी, पर्यटन, किसान व बागबानों से संबंधित मसलों की  बिसात ही क्या है। आखिर कुल मिलाकर सवा 11 घंटे चले इस सत्र में हमने क्या पाया-क्या खोया। हमारे नेताओं ने हमारे लिए…

अपनी छवि की छांव में सरकार

अपनी चौथी वर्षगांठ मना रही हिमाचल सरकार के आंगन का आंखों देखा हाल बयान करती उपलब्धियां अगर सफलता का प्रतीक हैं, तो छवि की कई खाइयों में दाग भी हैं। कुछ मंत्रियों के प्रदर्शन में शाबाशियों का सवेरा है तो अंधकार के बाहुपाश में कहीं एक उदास…

मैं सिरमौर की बेटी

खनन माफिया को धूल चटाने वाली किंकरी देवी ने अमरीका को कायल कर दिया,तो आरजू ठाकुर के शॉट से उड़ी शटल का जलवा पूरी दुनिया ने देखा। वहीं, शिलाई की डा. नीलम शर्मा के टेलेंट का लंदन कायल है। ये बेटियां ही हैं, जिनके दम पर देश ‘बेटी है अनमोल’…

कैशलैस का मॉडल ‌‌‌हिमाचल

नोटबंदी के बाद देश भर में ऑनलाइन सिस्टम  अपनाया जा रहा है, वहीं हिमाचल  ऐसी व्यवस्था से पहले ही जुड़ा हुआ है। प्रदेश सरकार  का हर  विभाग मौजूदा समय में ऑनलाइन है, जो यह प्रमाणित करता है कि हिमाचल कैशलैस का मॉडल बन कर उभरा है... नोटबंदी के…

डीपीआर के मायने

डीपीआर यानी खाका, किसी भी परियोजना की वह पहली सीढ़ी है... जिसके बिना  कोई प्रोजेक्ट आगे बढ़ नहीं सकता। आखिर हिमाचल में किस तरह  डीपीआर तैयार की जाती है, इसी की तफतीश करता इस बार का दखल.... हिमाचल की बात करें तो राज्य के विभिन्न विभागों में…

नोट में बंद हिमाचल

प्रधानमंत्री ने भ्रष्टाचार और काले धन को बाहर निकालने के लिए 500 और 1000 के नोट पर पांबदी लगा कर जो कदम उठाया है, उसका हिमाचल मे भी हर वर्ग ने खुले दिल से स्वागत किया है। पर अब बैंकों के पैसों के लिए लगने वाली लंबी लाइनें लोगों को अखरने भी…

सेब के 100 साल

हर साल 5000 करोड़ की बागबानी, 1.70 लाख परिवार करते हैं उत्पादन सेब के सौ साल के सफर ने जहां प्रदेश को विश्व स्तर पर सेब राज्य के नाम से पहचान दिलाई, वहीं बागबानों की माली हालत में भी जबरदस्त सुधार कर डाला। प्रदेश में सेब के आगमन से लेकर…

हिमाचल का असली ब्रांड कौन

मेजर मनकोटिया के प्रस्ताव पर कंगना को ऑफर, शर्तों पर अड़ी बेटी दलाईलामा, प्रीटि जिंटा,यामी गौतम व अजय ठाकुर-ऋषि धवन सरीखे खिलाड़ी, विश्वविख्यात मंदिर या फिर कश्मीर जैसी खूबसूरती... आखिर हिमाचल का असली ब्रांड क्या है। क्वीन कंगना रणौत को…

ऑनलाइन दीप जले

हाईटेक होती दुनिया में अब खरीददारी के तौर-तरीके भी बदल गए हैं। वक्त बचाने और बाजार से सस्ता सामान खरीदने के लिए हिमाचलवासी अब इंटरनेट का सहारा ले रहे हैं। युवाओं-महिलाओं में ऑनलाइन शॉपिंग की तरफ रुझान लगातार बढ़ता जा रहा है और खासकर…

अब की बार पूरी कर दो आस

अब की बार मोदी सरकार का नारा लिए नरेंद्र मोदी ने जब सुजानपुर रैली में चार कमल मांगे तो हिमाचल ने खुशी से चारों सांसद एनडीए की झोली में डाल दिए। उस वक्त प्रदेशवासियों ने अपना वादा निभाया। अब बारी प्रधानमंत्री की है...हिमाचल वादों के उस रथ को…

ऑटो मार्केट का सुपर हीरो हमीरपुर

कहने को सबसे छोटा, लेकिन टाटा से लेकर मारुति तक की फेवरेट मार्केट बने हमीरपुर जिला को 23 नामी कंपनियों के शोरूमों पर नाज है। हर महीने करोड़ों का कारोबार करने वाला हमीरपुर ऑटो बाजार का सुपर हीरो बन कर उभरा है। यह अलग बात है कि नादौन में…

ऑटो मोबाइल का सरताज मंडी

शिवरात्रि महोत्सव से विश्व पटल पर अलहदा पहचान बनाने वाला जिला मंडी ऑटो मोबाइल सेक्टर में लंबी छलांग लगा रहा है। यहां स्थापित 45 शोरूम , करोड़ों का कारोबार इसी का संकेत है  कि माडव्य नगरी कंपनियों की पहली पसंद है । ऑटो मोबाइल का सरताज बने…

ऑटो मोबाइल का बिग बॉ‍‍‍स सोलन

1500 से ज्यादा कारखानों वाले बीबीएन को समेटे सोलन जिला की 28 नामी ऑटो मोबाइल कंपनियों ने सूरत बदल डाली है। इससे 600 से ज्यादा हिमाचली सीधे रोजगार पा रहे हैं। दुख सिर्फ इस बात का है कि अरसे से ट्रांसपोर्ट नगर के दावों के बीच यहां ढंग की एक…

देवभूमि में त्योहारों का बढ़ता दायरा

नब्बे के दशक में महज दूरदर्शन पर चित्रहार जैसे प्रोग्रामों का बेसब्री से इंतजार करने वाले हिमाचल ने ऊंची उड़ान भरी है। करवाचौथ और दीपावली-होली ही नहीं, अब तो गणेशोत्सव-छठ पूजा सरीखे पर्व भी देवभूमि की शान बन गए हैं। भोला-भाला हिमाचल अब…

मेक इन इंडिया मेड इन हिमाचल

अगली बार जब भी मेक इन इंडिया के बारे में पढ़ें, सुने या सोचें तो अपने घर में आसपास नजर जरूर घुमाएं। जो भी पहली चीज हाथ लगे उसे उठाएं । कुछ नजर आया....  नहीं ..तो जांचें कि आपके हाथ में पकड़ी हुई टूथपेस्ट ट्यूब, दवाइयां, कॉस्मेटिक्स या फिर…