हां… मैं कर्मचारी हूं

सरकार बनाने या गिराने में अहम भूमिका निभाने वाले हिमाचल प्रदेश के करीब पांच लाख मुलाजिम राज्य के विकास का रथ हांक रहे हैं। यही वह वर्ग है, जिसके दम पर सियासी दल सत्ता की नींव रखते हैं। कर्मचारियों के योगदान को बता रहे हैं... शकील कुरैशी…

हां … मै महाजन हूं

राजाओं के फाइनांसर पहाड़ी राज्य के नाम से विख्यात हिमाचल प्रदेश के विकास में महाजन समुदाय का अहम योगदान है। इस समुदाय की भागीदारी से हिमाचल तरक्की के लंबे डग भर रहा है। महाजन समुदाय की उपलब्धियां बता रहे हैं  अमन अग्निहोत्री... रियासत काल…

हां… मैं जाट हूं

शिव की जटाओं से खास रिश्ता है, तो पांडवों को महाभारत जिताकर ज्येष्ठ कहलाने वाले श्रीकृष्ण से गहरा नाता...। वीर हूं, दिलेर-दयावान हूं, मगर जिद्दी भी हूं...। हां मैं जाट हूं। जी हां, यही संकल्प लेकर हिमाचल का  सवा लाख आबादी वाला  जाट समुदाय…

हां…मैं खत्री हूं

हिमाचल के विकास में खत्री समुदाय का योगदान अभूतपूर्व रहा है। सियासत से लेकर हर क्षेत्र में इस वर्ग ने प्रदेश को अलहदा पहचान दिलाई है।  इस बार दखल के जरिए खत्री समुदाय का सुनहरा योगदान बता रहे हैं... मस्तराम डलैल... खत्री समुदाय का इतिहास…

हां…मैं गुज्जर हूं

92547 कुल आबादी 56454 हिंदू गुज्जर 36093 मुस्लिम गुज्जर  हिमाचल की तरक्की में गुज्ज्र समुदाय का बेहतरीन योगदान रहा है। सियासत से लेकर सरकारी ओहदों तक समुदाय अपनी पैठ बनाए हुए है। गुज्जरों के योगदान को दखल के जरिए बता रहे हैं, नितिन…

‌हां… मैं लाहुली हूं

जनसंख्या 31564 साक्षरता 76.81 लिंगानुपात   916 शीत मरुस्थल के नाम से विख्यात लाहुल की भौगोलिक परिस्थितियां बहुत कठिन हैं, फिर भी लाहुलियों ने मेहनत के दम पर हर मुश्किल से पार पा लिया। लाहुलियों ने कैसे हासिल किया मुकाम, बता रही हैं,…

हां… मैं किन्नौरी हूं

84121 जनसंख्या 6401 क्षेत्रफल वर्ग किमी 234 गांव 80 % साक्षरता दर प्राकृतिक सौंदर्य से लबरेज किन्नौर घाटी के मेहनतकश लोगों ने बागबानी के दम पर आर्थिकी सुधारी है। इसके अलावा हिमाचल के विकास में भी किन्नौरियों का अहम योगदान है।…

हां… मैं धीमान हूं

अपने हुनर के दम पर विश्व को खूबसूरत बनाने में भगवान विश्वकर्मा के वंशज धीमान समुदाय का अहम योगदान है। हिमाचल के हर जिला में इस बिरादरी की मजबूत पकड़ है। लगभग 10 से 11 लाख की आबादी वाला यह समुदाय 6.80 लाख मतदाताओं के दम पर सिसासी हवाओं का…

हां… मैं गोरखा हूं

बेमिसाल वीरता के लिए विख्यात हिमाचल का गोरखा समुदाय किसी परिचय का मोहताज नहीं है। सरहदों की सुरक्षा से आगे बढ़कर यह समुदाय अब जीवन के हर क्षेत्र में निरंतर नई मंजिलें तय कर रहा है। हिमाचल के गोरखा शौर्य का सफर बयां कर रहे हैं, पवन कुमार…

हां… मैं सूद हूं

सूद शब्द की उत्पति संस्कृत भाषा से हुई तथा अमर कोश के मुताबिक इसका अर्थ है ‘साहसी, बहादुर और अपने शत्रुओं का विजेता’। इसका शाब्दिक अर्थ यह भी है कि मददगार प्रवृत्ति का ऐसा व्यक्ति जो बड़ी सुगमता से प्रगति कर सकता है। समुदाय की उपलब्धियों पर…

हां… मैं हूं चौधरी

ओबीसी में सबसे मजबूत चौधरी बिरादरी की हिमाचल के 18 सियासी हलकों में मजबूत पकड़ है। मुजारा एक्ट के बाद हर फील्ड में खुद को इक्कीस साबित करने वाले इस समुदाय की करीब 12 लाख आबादी देवभूमि के विकास में अन्नदाता बनकर कर उभरी है। । हालांकि आरक्षण…

हां … मैं ब्राह्मण हूं

देश व प्रदेश में जल-थल व नभ में ब्राह्मणों ने सितारों की तरह अपनी चमक बिखेरी है। शायद ही ऐसा कोई क्षेत्र होगा, जहां इस वर्ग से बुद्धिजीवी, वैज्ञानिक, डाक्टर, युद्धवीर या फिर अन्य विद्वानों ने अपनी अलग छाप न छोड़ी हो... हिमाचल के लिए यह…

हां, मैं राजपूत हूं

वीरभूमि हिमाचल में राजपूत समुदाय ने हर क्षेत्र में गहरी छाप छोड़ी है। प्रदेश में सैन्य क्षेत्र हो या फिर राजनीतिक, सामाजिक,आर्थिक व खेल जगत ,या फिर कोई भी अन्य क्षेत्र... राजपूत समुदाय ने अहम योगदान दिया है। समुदाय की उपलब्धियों के सफर को…

हां, मैं गद्दी हूं

भोलेपन और सादगी की मूरत गद्दी समुदाय पहाड़ की शान है। प्रदेश में महज दस फीसदी आबादी होने के बाद भी यह समुदाय 20 विधानसभा क्षेत्रों के सियासी समीकरणों को बदलने का माद्दा रखता है। गद्दी समुदाय ने मेहनत के दम पर हर क्षेत्र में कामयाबी के झंडे…

बड़ा नाम – बड़ा काम

साल 2010 में पड्डल कालेज से चलने वाली आईआईटी मंडी ने आकाश और तेजस सरीखे प्रोजेक्टों में योगदान देकर खुद को इक्कीस साबित कर दिया है। अब बादल फटने व भू-स्खलन की जानकारी भी यहां से चुटकियों में मिलने लगेगी। सोलर  एनर्जी पर भी तेजी से काम हो…