हाल चुनावी साल का विधायक के एक साल का : डाक्टर राजीव बिंदल; विधायक ,नाहन

लोकसभा चुनाव नजदीक आते ही हिमाचल में भी राजनीतिक सरगर्मियां भी बढ़ गई हैं। प्रदेश सरकार के अब तक के कार्यकाल में कितना विकास हुआ है और कौन-कौन से मुद्दे छिटक रहे हैं। दखल के जरिए नाहन विधानसभा क्षेत्र का हाल बता रहे हैं.. सूरत पुंडीर देश…

हाल चुनावी साल का विधायक के एक साल का  : वीरेंद्र कंवर;  विधायक, कुटलैहड़

केंद्र की मोदी सरकार सत्ता मेंपांच साल का कार्यकाल पूरा करने जा रही है और एक बार फिर से राजनीतिक दल चुनावी रणक्षेत्र में कूदने को तैयार हैं। दूसरी ओर हिमाचल प्रदेश में भी जयराम सरकार करीब सवा साल पूरा कर चुकी है। इस बीच विधानसभा क्षेत्रों…

क्षमता से कितना बाहर कसौली

रोजाना हजारों पर्यटकों की अगवानी वाले कसौली में वैसे तो पूरा साल ही पर्यटकों की भीड़ जमा रहा रहती है, पर गर्मियों में जून का महीना ऐसा समय   है,जब यहां सैलानियों की आमद अनियंत्रित सी हो जाती है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बना चुके कसौली…

सरकार की काबिलीयत में जिलों की कमान-4

देवभूमि के नाम से विख्यात हिमाचल निरंतर प्रगति के डग भर रहा है। प्रदेश की जयराम सरकार ने कई नई योजनाएं शुरू की, जिनका जनता को फायदा हो रहा है। जनमंच सरीखी पहल तो लोगों के लिए लाभकारी सिद्ध हो रही है, क्योंकि लोगों की दिक्कतों का घर-द्वार…

सरकार की काबिलीयत में जिलों की कमान-3

देवभूमि के नाम से विख्यात हिमाचल  निरंतर प्रगति के डग भर रहा है। प्रदेश की जयराम सरकार ने कई नई योजनाएं शुरू की, जिनका जनता को फायदा हो रहा है। जनमंच सरीखी पहल तो लोगों के लिए लाभकारी सिद्ध हो रही है, क्योंकि लोगों की दिक्कतों का घर-द्वार…

सरकार की काबिलीयत में जिलों की कमान-2

हिमाचल प्रदेश की जयराम सरकार का एक साल का कार्यकाल पूरा हो चुका है। इस दौरान मुख्यमंत्री और उनकी टीम ने कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं। सरकार की जनमंच जैसी पहल से लोग सबसे अधिक खुश हैं। जनमंच के जरिए अब लोगों की शिकायतें तुरंत दूर होने…

सरकार की काबिलीयत में जिलों की कमान

हिमाचल   प्रदेश की जयराम सरकार का एक साल का कार्यकाल पूरा हो चुका है। इस दौरान मुख्यमंत्री और उनकी टीम ने कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं। सरकार की जनमंच जैसी पहल से लोग सबसे अधिक खुश हैं। जनमंच के जरिए अब लोगों की शिकायतें तुरंत दूर…

नववर्ष का उल्लास

नए साल का जश्न मनाने के लिए हिमाचल हर साल सैलानियों की पहली पसंद होता है। जश्न के लिए पर्यटक कई दिन पहले ही होटल आदि की बुकिंग करवा लेते हैं। इस बार भी प्रदेश में नजारा ऐसा ही दिखा। नववर्ष के उल्लास को दखल के जरिए पेश कर रहे हैं... आरपी…

काबिल अफसर मजबूत सरकार-2

जयराम सरकार के एक साल की कामयाबी में प्रदेश के अफसरों के ईमानदारप्रयास शामिल हैं। मनीषा नंदा हों या राम सुभग, फिर डीसी राणा या विनय सिंह, डा. अरुण, या अनिल खाची, हिमाचल सरकार को इन काबिल अफसरों पर नाज है। दखल के इस अंक में प्रदेश के…

काबिल अफसर मजबूत सरकार

जन आभार रैली में प्रधानमंत्री से तारीफ पाने वाली जयराम सरकार की कामयाबी के पीछे उन अफसरों का भी कम हाथ नहीं, जो चुटकी बजाते ही 5जी की स्पीड से हर काम ओके कर देते हैं। बात बीके अग्रवाल की हो या फिर श्रीकांत बाल्दी की, रामसुभग हों या आरडी…

हिमाचल सरकार का एक साल

एक साल पहले हिमाचल में सत्ता परिवर्तन और जयराम ठाकुर के रूप में सीएम का नया चेहरा सामने आने से लोगों की उम्मीदें भी बढ़ गईं। एक साल के सफर में प्रदेश सरकार लोगों की कसौटी पर कितना खरा उतर पाई, कौन से ऐसे क्षेत्र हैं, जहां सरकार जनमानस की…

क्षमता से कितना बाहर मंडी

मंडी शहर की स्थापना 1527 ईस्वी में राजा अजबर सेन ने की थी।  शहर प्रदेश के सबसे प्राचीन नगरों में से एक है, लेकिन दुखद यह है कि यह शहर न तो अपनी प्राचीन विरासत को सही तरह से समेट रख सका  और न ही एक आधुनिक शहर बन पाया है। बेतरतीब निर्माण की…

क्षमता से कितना बाहर ज्वालामुखी

दुनिया को  पवित्र ज्योति से निहाल करने वाली मां ज्वाला की नगरी अब भीड़ का शहर दिखती है। यहां रास्ते-ट्रैफिक, पानी-प्लानिंग समय की बहुत बड़ी जरूरत हैं , कुछ ऐसे ही मुद्दों को दखल के जरिए उठा रहे हैं... शैलेष शर्मा विश्वविख्यात शक्तिपीठ…

क्षमता से कितना बाहर बज्रेश्वरी

4448 एकड़ में फैली कांगड़ा नगरी के नगर परिषद क्षेत्र के नौ वार्डों की जनसंख्या मौजूदा समय में करीब 18000 है ,जबकि इसके आसपास लगती पंचायतों हलेड़कला, बीरता व जोगीपुर के अधिकांश इलाके का शहरीकरण हो चुका है ,लेकिन यह इलाके नगर परिषद से बाहर…

क्षमता से कितना बाहर चिंतपूर्णी

शक्तिपीठ माता चिंतपूर्णी मंदिर लाखों श्रदालुओं की आस्था का केंद्र है। समय के साथ श्रद्धालुओं की संख्या में तो इजाफा हुआ है, लेकिन भक्तों की बढ़ती संख्या के अनुरूप सुविधाओं को जुटा पाने में मंदिर प्रशासन सफल नहीं हो पाया है। रही-सही कसर…