कालेज शिक्षा कितनी उच्च

हिमाचल प्रदेश के डिग्री कालेजों में रूसा के तहत नया सत्र शुरू हो गया है। इस साल राज्य के कालेजों में दाखिले में पांच प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। पिछले वर्ष जहां 60 हजार छात्रों ने दाखिला लिया था, वहीं इस बार 70 से 75 हजार छात्रों ने…

हिमाचल के दरिया छलनी

हिमाचल में खनन माफिया दिन-रात खड्डों का सीना छलनी कर चांदी कूट रहा है। नतीजतन, जहां पर्यावरण को नुकसान पहुंच रहा है, वहीं जलस्रोत भी सूख रहे हैं। अवैध खनन से भयानक हो रही तस्वीर पेश करता, इस बार का दखल... सूत्रधारः शकील…

विध्वंसक निर्माण

कंकरीट के जंगल में तबदील हो रहे प्रदेश के शहर अपनी ही तबाही की इबारत लिख रहे हेैं। सोलन-शिमला हों या कुल्लू-मनाली या फिर धर्मशाला-मकलोडगंज, हर जगह बहुमंजिला भवन देखे जा सकते हैं... पर ये भवन कितने सुरक्षित हैं, यह शायद किसी को पता नहीं ।…

क्षमता से कितना बाहर पांवटा साहिब

हिमाचल प्रदेश के दक्षिण छोर में यमुना नदी के तट पर स्थित गुरु की सुंदर नगरी पांवटा साहिब की विश्वभर में अलग पहचान है, लेकिन आबादी के हिसाब से यहां विकास नहीं हो पाया। क्षमता से ज्यादा बोझ ढो रहे पांवटा साहिब की यही तस्वीर दखल के जरिए पेश…

परिवहन नीति के इंतजार में पिसता हिमाचल

साल में तीन हजार हादसों में 1200 लोगों की मौत के बाद हिमाचल में परिवहन पॉलिसी के कोई मायने नहीं । 2014 में इसकी परिकल्पना हुई थी, लेकिन दुर्घटनाओं पर लगाम नहीं लग पाई। हिमाचल की ट्रांसपोर्ट पॉलिसी और हादसों से निपटने को क्या प्लान बना रहा…

क्षमता से कितना बाहर नाहन

करीब 400 साल पहले अस्तित्व में आया ऐतिहासिक शहरों में शूमार नाहन विकास के लंबे डग तो भरता गया, लेकिन बढ़ती आबादी के हिसाब से लोगों को सुविधाएं मुहैया करवाने में पिछड़ गया। सच पूछो तो शहर में ओपन स्पेस तक नहीं है, घर एक-दूसरे से बिलकुल…

क्षमता से कितना बाहर सोलन

कुछ दशक पहले सोलन के एक किलोमीटर में 174 लोग रहते थे,यह आंकड़ा अब भले ही 300 तक पहुंच गया हो, लेकिन सड़कें और पार्किंग अब भी वहीं हैं। कसौली और चायल को छोड़ दें, तो कोई नया टूरिस्ट डेस्टिनेशन नहीं बना है। नतीजतन, अब पर्यटक भी सोलन…

हिमाचली पर्दे पर फिल्म पालिसी

फिल्म इंडस्ट्री में हिमाचल प्रदेश शूटिंग के लिहाज से नया नाम नहीं है, परंतु बॉलीवुड ने इसे वह तरजीह नहीं दी, जिसका प्रदेश हकदार था। इसमें बड़ी कमियां हिमाचल की सरकारों की ओर से भी रहीं, जिन्होंने इस ओर गंभीरता नहीं दिखाई। अब जाकर…

छात्रों के 250 करोड़ पर डाका

केंद्र और प्रदेश सरकार ने हर बच्चे को स्कूल तक पहुंचाने के लिए कई योजनाएं चला रखी हैं। इसके अलावा आर्थिक तंगी के चलते किसी होनहार की पढ़ाई न छूट जाए, इसके लिए भी छात्रवृत्ति योजनाएं चलाई जा रही हैं, लेकिन बच्चों की छात्रवृत्ति पर भी कई…

पहाड़ पर मोदी

2014 से चली मोदी लहर 2019 आते-आते सुनामी में बदल गई और एक के बाद एक कई विरोधियों के पांव उखड़ गए। हिमाचल में तो मोदी का के्रज ऐसा रहा कि पहाड़ के 70 फीसदी लोगों ने वोट देकर इतिहास रच दिया। पीएम मोदी और सीएम जयराम ठाकुर की लोकप्रियता…

नई हांडी में पुरानी चाट

लोकसभा के लिए आज होने वाले चुनाव को प्रत्याशियों के साथ-साथ मतदाता भी पूरे जोश में हैं। इस बार खास यह है कि जिन मुद्दों पर सालों से बात हो रही हैं, वे अभी भी वैसे ही खड़े हैं। इस चुनाव में भी वही मुद्दे छाए हुए हैं, जो पहले थे। यानी चेहरे…

पहाड़ की सियासत

17वें लोकसभा चुनावों के लिए हिमाचल भी पूरी तरह से तैयार है। पहाड़ी प्रदेश के चुनावी माहौल से रू-ब-रू करवा रहा है इस बार का दखल... सूत्रधार : शकील कुरैशी आरपी नेगी टेकचंद वर्मा हिमाचल में चारों संसदीय…

हाल चुनावी साल का मंत्री के एक साल का : सरवीण चौधरी; विधायक, शाहपुर

देश में लोकसभा चुनावों का बिगुल बज चुका है। ऐसे में हिमाचल के विधानसभा क्षेत्रों में भी नेता जीत की डोर संभाले हुए हैं। ‘दिव्य हिमाचल’ के दखल की इस कड़ी में आज जयराम सरकार में कैबिनेट मंत्री सरवीण चौधरी के विधानसभा क्षेत्र शाहपुर के…

हाल चुनावी साल का मंत्री के एक साल का : महेंद्र सिंह ठाकुर; विधायक, धर्मपुर 

लोकसभा चुनाव में पूरा देश रंग चुका है, तो हिमाचल में सियासी पारा दिन-प्रतिदिन चढ़ रहा है। लोकसभा चुनाव में विधायक द्वारा किए गए विकास को भी परखा जाता है, तो इस बार हम दखल के जरिए जानेंगे कि हिमाचल सरकार के कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह…

हाल चुनावी साल का मंत्री के एक साल का : गोविंद सिंह ठाकुर; विधायक, मनाली 

लोकसभा चुनाव में पूरा देश रंग चुका है, तो हिमाचल में सियासी पारा दिन-प्रतिदिन चढ़ रहा है। लोकसभा चुनाव में विधायक द्वारा किए गए विकास को भी परखा जाता है, तो इस बार हम दखल के जरिए जानेंगे कि हिमाचल सरकार के कैबिनेट मंत्री गोविंद ठाकुर ने…