पीके खुराना

हमें अपना दृष्टिकोण बदलना होगा, कार्य-संस्कृति बदलनी होगी, ताकि हम नए ज़माने की सुविधाओं का स्वागत कर सकें और नए ज़माने की आवश्यकताओं के अनुसार नई सुविधाओं का आविष्कार कर सकें। युवाओं में उद्यम की सोच विकसित करना, उन्हें नवीनतम तकनीक से परिचित करवाना, उद्यम में सफलता के लिए सेल्स, मार्केटिंग, एकाउंटिंग आदि की जानकारी

बहुत से लोग जीवन भर धन के पीछे भागते रहते हैं और जीवन का असली आनंद लेने की ओर उनका ध्यान ही नहीं जाता। वे सुख को खुशी समझ लेते हैं। एक मुलायम-गद्देदार सोफे पर बैठा व्यक्ति या मखमली बिस्तर पर लेटा व्यक्ति भी दुखी हो सकता है, अकेलेपन से त्रस्त हो सकता है। सुख,

यह सही है कि पंजाब में आम आदमी पार्टी की ऐतिहासिक जीत से तिलमिलाए मोदी-शाह ने पंजाब को राजनीतिक रूप से नीचा दिखाने के लिए चंडीगढ़ में केंद्र की सेवा शर्तों के नियमों को लागू करने का तुर्रा छोड़ा, लेकिन यह कोई ऐसा मुद्दा नहीं था जिसकी प्रतिक्रिया में पंजाब सरकार इसे बड़े विवाद का

सवाल यह है कि समाधान क्या हुआ? क्या इस घटना के बाद सरकार ने कोई कार्रवाई की? क्या इस घटना के समय जिन विधायकों ने बलजीत यादव के समर्थन की घोषणा की थी, उन्होंने आगे कुछ और किया? सवाल इतना ही नहीं है। सवाल यह है कि ऐसी नौबत ही क्यों आई कि एक विधायक

हमें यह समझना चाहिए कि परिवर्तन दिमाग से शुरू होते हैं, या यूं कहें कि दिमाग में शुरू होते हैं। हम इक्कीसवीं सदी में प्रवेश कर चुके हैं और सत्रहवीं सदी की मानसिकता से हम देश का विकास नहीं कर सकते। नई स्थितियों में नई समस्याएं हैं और उनके समाधान भी पुरातनपंथी नहीं हो सकते।

आप भी सफल होना चाहते हों तो यह समझ लें कि सफलता आसान नहीं होती। सफलता आपकी सारी ऊर्जा चाहती है, सारा ध्यान चाहती है। यदि आप इसके लिए तैयार हैं तो दुनिया की कोई शक्ति आपको सफल होने से नहीं रोक सकती, फिर चाहे आप सफल लेखक बनना चाहते हों, सफल नेता बनना चाहते

हम कितनी ही बढि़या योजना बना लें, परिस्थितियां तथा आसपास के लोग हमारे लिए चुनौतियां बन सकते हैं… मैं हमेशा से मानता आया हूं कि गरीबी अपने आप में कोई गुण नहीं है और अमीरी अपने आप में कोई अवगुण नहीं है। फर्क तब पड़ता है जब कोई गरीब व्यक्ति स्वयं को बेबस मानकर प्रयत्न

अकेलापन दूर करना तो और भी आसान है। आपको जब भी अकेलापन महसूस हो, जब भी आपको यह लगे कि आप भीड़ में होते हुए भी अजनबी हैं, परिवार में रहकर भी अलग-थलग हैं तो आपको यह देखना चाहिए कि आपका कौन सा ऐसा मित्र है जिससे आपने लंबे समय से बात नहीं की, उन्हें

किसानों को सीधे धन मुहैया करवाना एक अस्थाई उपाय है। विभिन्न जिन्सों के दाम तय करने की नीति और प्रक्रिया में आमूलचूल परिवर्तन की आवश्यकता है। ये विसंगतियां दूर होंगी तो व्यवसाय के साथ-साथ कृषि भी फलेगी-फूलेगी। तभी देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी और हमारे युवाओं के लिए कृषि, उद्योग और सेवा क्षेत्र में रोजगार

जीवन की तीसरी स्टेज में परिवर्तन हमारे अंदर होता है। तब हम कहते हैं कि लाइफ हैपन्स इनसाइड अस। जीवन हमारे अंदर घटित हो रहा है, हमारी सोच विकसित हो रही है, हम खुद को तराश रहे हैं, हम बदल रहे हैं, हम दुनिया को बदलने की कोशिश नहीं करते, किसी दूसरे पर नियंत्रण की